Raj Express
www.rajexpress.co
महाराष्ट्र के सांगली में जनसभा को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह।
महाराष्ट्र के सांगली में जनसभा को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह।|अमित शाह
पॉलिटिक्स

अमित शाह बोले खून की नदियां तो छोड़िए कश्मीर में एक गोली भी नहीं चलानी पड़ी

महाराष्‍ट्र के सांगली में अमित शाह ने कांग्रेस पर और एनसीपी पर तीखा हमले करते हुए कहा कि दोनों पार्टियां जनता को बतायें की धारा 370 पर उनका स्टैंड क्या है।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव को मद्देनज़र रखते हुए अमित शाह ने बताया कि जब संसद में धारा 370 को लाया गया तो एनसीपी और कांग्रेस ने इस बिल को समर्थन नहीं दिया था। अब महाराष्ट्र की जनता को दोनों पार्टियों को बताना चाहिए की उनकी धारा 370 पर क्या राय है?

कांग्रेस ने धारा 370 पर अब तक अपना रुख स्पष्ट नहीं किया है। कांग्रेस के कुछ बड़े राजनेता धारा 370 को हाटए जाने का समर्थन भी कर चुके हैं। वही दूसरी ओर पार्टी ने ऐसे बयानो को राजनेताओं के निजी विचार कहा है।

अमित शाह ने कहा, 'कांग्रेस और एनसीपी ने कहा था कि कश्मीर में खून की नदियां बह जाएंगी। 5 अगस्त 2019 को 370 हटाई गई है, अब 5 अक्टूबर भी बीत गया। खून की नदियां तो छोड़िए कश्मीर में एक गोली भी नहीं चलानी पड़ी है।'

अमित शाह एयर स्ट्राइक की बात कही

गृह मंत्री ने कहा, 'दोबारा सत्‍ता में आने के बाद पहले संसदीय सत्र में प्रधानमंत्री मोदी ने तीन तलाक समेत घाटी से अनुच्‍छेद 370 और 35 ए खत्‍म किया। इसके साथ ही सर्जिकल स्‍ट्राइक के बाद पूरी दुनिया ने भारत को नई रोशनी में देखा। इससे दुनिया को पता चल गया कि यदि वे एक भारतीय को मारते हैं तो उन्‍हें इसका परिणाम महंगा साबित होगा।'

इस बार महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी गठबंधन में चुनावी मैदान में उतरे है इसी बात को ध्यान में रखते हुए अमित शाह ने कहा की महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस जी के नेतृत्व में चुनाव लड़ रहे हैं और दूसरी ओर कांग्रेस और एनसीपी जैसी परिवारवादी पार्टियां चुनावी मैदान में हैं।' उन्‍होंने कहा, 'भाजपा ही एक ऐसी पार्टी है जो अपने छोटे से छोटे कार्यकर्ता को भी बड़े से बड़े पद पर आसीन करती है।

वही दूसरी ओर कांग्रेस और एनसीपी में परिवार के लोगो को ही टिकट मिलता है। बता दें कि इस बार महाराष्ट्र की राजनीति में 53 साल से दबदबा रखने वाले ठाकरे परिवार में पहली बार परिवार से आदित्य ठाकरे चुनावी मैदान में हैं।आदित्य पार्टी में नंबर दो का स्थान रखते हैं। बीजेपी-शिवसेना की जीत होने पर महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार होंगे आदित्य ठाकरे।

शाह ने अटल जी को भी किया याद

'गृहमंत्री ने कहा, '1971 में भारत-पाक युद्ध के बाद भारत की जीत पर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को बधाई देने वाले पहले शख्‍स हमारे अटल बिहारी वाजपेयी थे । उस वक्‍त हम विपक्ष में थे लेकिन हमारे लिए पहले हमारा देश है।'

एक नजर में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव

महाराष्ट्र विधानसभा में 288 सीटों पर प्रत्याशी मैदान में है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मई में बीजेपी को केंद्र में दूसरी बार मिली सत्ता के बाद पहली बार विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। महाराष्ट्र में आठ करोड़ 95 लाख मतदाताओं के लिये 95,473 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे।महाराष्ट्र में मतदान एक चरण में 21 अक्टूबर को होगा। मतों की गिनती 24 अक्टूबर को होगी।महाराष्ट्र में अपनी सत्ता बचाए रखने के लिये बीजेपी का मुख्य मुकाबला कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन से होगा।