नागरिकता मुद्दे पर ओवैसी और सुधांशु की शायराना अंदाज में नोकझोंक
नागरिकता मुद्दे पर ओवैसी और सुधांशु की शायराना अंदाज में नोकझोंक|Social Media
पॉलिटिक्स

नागरिकता मुद्दे पर ओवैसी-सुधांशु की शायराना अंदाज में नोकझोंक

हिंदुस्तान शिखर समागम में आज AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी और बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी 'शाहीन बाग-CAA-NPR-NRC' जैसे मुद्दों पर आमने-सामने आए, जानिए किसने क्या कहा?

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। 22 फरवरी को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित '5वां हिन्दुस्तान शिखर समागम' कार्यक्रम में कई राजनीति शख्सियतें मौजूद रही। 'नए दौर का नया नजरिया' की थीम कार्यक्रम में ऑल ल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) प्रमुख व सांसद असदुद्दीन ओवैसी और बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी मंच पर पहुंचे और चर्चा के दौरान यह अन्‍य मुद्दों पर अपनी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की। इस दौरान दोनों नेता 'शाहीन बाग-CAA-NPR-NRC' जैसे मुद्दों पर शायराना अंदाज में एक-दूसरे पर नोकझोंक करते नजर आए। जानिए आखिर किसने क्या कहा?

सबसे पहले बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने CAA और भारत में धार्मिक आजादी पर अमेरिकी सरकार के संभावित कॉमेंट पर कहा कि, मैक्सिको में जो दीवार बनाते हैं। वह हमको समझाये ये ठीक नहीं...जो मैक्सिको में दीवार बनाते हैं और पैन इस्लामिक आतंकवाद की बात करते हैं, उनके लिए यही कहूंगा कि पर उपदेश कुशल बहुतेरे।

ओवैसी ने उठाए यह सवाल :

इसके बाद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- अमेरिका को बीजेपी दोस्त मानती है। शायर ने कहा था कि तुम जिसके दोस्त हो ये दुश्मन आसमां क्यों बने? अगर आप अमेरिका को दोस्त मानते हैं तो हम ये क्यों नहीं पूछते कि अमेरिका के ड्रोन पाकिस्तान में बम मारते हैं, फिर हाफिज सईद को क्यों नहीं मारते? अगर हम अमेरिका को अपना दोस्त मानते तो यूएस फारेन कमेटी ने 370 के खिलाफ क्यों बोला?

इतना ही नहीं बल्कि उन्‍होंने अपने इस अंदाज में विदेश नीति पर सवाल उठाते हुए भी बोले-पिछली बार प्रधानमंत्री जब वाशिंगटन गये थे, तो ट्रंप से इतनी बार गले मिले कि, ऐसा लग रहा था... ईद और बकरीद के गले मिल रहे हैं। इसके बाद भी भारत को कुछ नहीं मिला।

CAA व शाहीन बाग पर क्‍या बोले ओवैसी और सुधांशु?

रामलीला में हुए आंदोलन में डिमांड थी, मगर CAA में क्या डिमांड है? आखिर बात किससे करनी है यह तो बताइये। शाहीन बाग का आंदोलन विचित्र आंदोलन है, वहां 4-5 हजार लोग बैठे हैं, लेकिन 4-5 प्रतिनिधि नहीं चुन पा रहे हैं... ना लिखित मांगे और ना ही कोई प्रतिनिधि हैं। शाहीनबाग जाने वालों की जमानत जब्त हो गई, जो नहीं गया उसने कहा कि मैं हनुमान चालीसा पढूंगा।
सुधांशु त्रिवेदी
शाहीनबाग को बीजेपी ने मुद्दा बनाया था, दिल्ली चुनाव में 200 से ज्यादा मंत्री और नेता गए। मगर 4-5 कितने सीटें आई, पता नहीं। शाहीन बाग में लोग संविधान बचाने निकले हैं। संविधान बचाने की जिम्मेदारी सबकी है, देश की जनता की भी है।
असदुद्दीन ओवैसी

शाहीन बाग 11 फरवरी को जालियांवाला बाग हो जाएगा वाले बयान पर ओवैसी ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि, मैंने तंज में कहा था, इस बयान को फैक्चुअली लेने की जरूरत नहीं है।

तो वहीं सुधांशु त्रिवेदी बोले- ओवैसी ने अभी पूछा था कि,कितनी सीटे आई 8 सीटें आई है और 40% वोट है। ओवैसी की पार्टी चुनाव नहीं लड़ी, लेकिन लड़ैया बड़े थे।

2024 के बाद शायर बन जाएंगे सुधांशु :

अगर नरेंद्र मोदी जी उन्हें (सुधांशु त्रिवेदी) मंत्री नहीं बनाया, तो वह 2024 के बाद पक्का शायर बन जाएंगे और मुझे मालूम है कि नहीं बनाएंगे, क्योंकि मैं इनका हाथ देख चुका हूं।
असदुद्दीन ओवैसी

NRC पर ओवैसी का कहना :

असम में NRC हुआ, जिसमें 19 लाख लोगों के नाम नहीं आए, इसमें 13 लाख गैर मुस्लिम थे और 5 लाख बांग्ला बोलने वाले मुस्लिम हैं। बीजेपी CAA के तहत 13 लाख लोगों को नागरिकता देना चाहती है। रिपोर्ट कहती है बड़ी संख्या के पास बर्थ सर्टिफिकेट तक नहीं हैं। असम में जो हुआ उसे पूरे देश में करना चाहते हैं।

CAA के साथ NRC आयेगा, अगर पूरे देश में NRC लागू हुई, तो 8 करोड़ लोग इससे बाहर हो जाएंगे। 2003 में अटल सरकार में बनी कमेटी ने साफ लिखा है कि CAA के साथ NRC होगा।
असदुद्दीन ओवैसी

NRC पर सुधांशु ने दिया जवाब :

NRC पर बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने अपनी प्रतिक्रिया में जवाब दिया कि, अभी NRC आया नहीं, फिर भी हल्ला मचा रहे हैं...लिफाफा देख कर खत का मज मून भांप रहे हैं। सरकार ने साफ किया है कि अभी तक कोई बात नहीं है, लेकिन इनकी समस्या है यह चाहते हैं कि हम लिख दें कि कभी नहीं होगी। असम का NRC सुप्रीम कोर्ट से आया, आपको दिक्कत है तो सुप्रीम कोर्ट जाइये।

दोनों नेताओं में शायराना अंदाज में नोकझोंक :

NRC आएगा या नहीं इस पर सुधांशु त्रिवेदी ने कहा- अभी से क्या बताएं क्या हमारे दिल में है। तो वहीं ओवैसी ने जवाब देते हुए यह बात कही कि, मुगल-ए-आजाम फिल्म में अनारकाली से जब पूछा गया कि, तुम क्या चाहती हो तो उसने कहा कि, मैं इस देश की मल्लिका बनना चाहती हूं, तो बादशाह अकबर ने कहा कि तेरे दिल की बात आखिर तेरे लब पर आ गई। इसके बाद सुधांशु त्रिवेदी ने इस फिल्‍म के आगे का डायलॉग बोला- अनारकली कहती है कि इस मुल्क के होनेवाले बादशाह ने मुझसे कहा था कि तुम एक दिन इस देश की मल्लिका बनोगी और मैं नहीं चाहता हूं कि एक कनीज से बादशाह का किया वादा झूठ साबित हो जाए।

ओवैसी का भाजपा पर निशाना :

भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने इस दौरान यह बात भी कही कि, देश में नया दौर आया है, अब पाकिस्तान के झंडे दिखने बंद हो गए। हर आदमी संविधान लेकर चल रहा है। राम मंदिर का शिलान्यास और साढ़े 3 हजार टन सोना मिल गया। इस पर ओवैसी ने निशाना साधते हुए कहा कि, तो फिर अब गरीबी मिटा दीजिए, रोजगार दे दीजिए।

बता दें कि, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी देश के मौजूदा हालातों पर बेबाक अंदाज यानी खुलकर अपनी राय व्‍यक्‍त की जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co