असम की चुनावी सभाओं में राहुल गांधी पर जमकर बरसे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह
असम की चुनावी सभाओं में राहुल गांधी पर जमकर बरसे मुख्यमंत्री शिवराज सिंहSocial Media

असम की चुनावी सभाओं में राहुल गांधी पर जमकर बरसे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने असम की सभाओं में बोला जमकर हमला कहा "जो वादे मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में नहीं निभाए, असम में कैसे पूरे करेंगे राहुल बाबा।"

राज एक्सप्रेस। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को असम की चुनावी सभाओं में राहुल गांधी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि जहां भी चुनाव आते हैं राहुल बाबा पहुंच जाते हैं। वो कहते हैं मैं झूठ नहीं बोलता, मैं गारंटी दे रहा हूं। ये वही राहुल गांधी हैं, जिन्होंने खुद और उनकी पार्टी ने कहा था सभी को सरकारी रोजगार दिया जाएगा, सरकारी नौकरी दी जाएगी। मध्यप्रदेश में सवा साल कांग्रेस की सरकार रही, लेकिन एक को भी सरकारी नौकरी नहीं मिली। राहुल गांधी की पार्टी ने वचन दिया था कि 4000 रुपए बेरोजगारी भत्ता देंगे। इन्होंने एक पैसा भी किसी बेरोजगार को नहीं दिया। इन्होंने, कहा था फूड प्रोसेसिंग की हर ब्लॉक हर जिले में खेत के बगल में इंडस्ट्री खोलेंगे, इन्होंने एक इंडस्ट्री नहीं खोली। इन्होंने, यह भी कहा था कि 10 दिन में अगर किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ तो 11वें दिन मुख्यमंत्री बदल दूंगा। उस हिसाब से सवा साल में 40 -50 मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश में बदल देना चाहिए थे। अब राहुल बाबा असम आकर पांच गारंटी दे रहे हैं। असम के नौजवानों को रोजगार के लिए फार्म बांट रहे हैं। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि जो वादे आपने मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ में पूरे नहीं किए, वो असम में कैसे पूरे कर देंगे? मध्यप्रदेश में कहा, कर्जमाफी पक्की, यहां कह रहे हैं रोजगार पक्का, राहुल बाबा आपको शर्म आनी चाहिए।

राहुल ने उठाया कांग्रेस की समाप्ति का जिम्मा :

श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस में महात्मा गांधी ने सत्य के साथ कई प्रयोग किए थे। इस पर उन्होंने एक पुस्तक भी लिखी, जिसका नाम है 'माई एम्सपेरीमेंट विथ टु्थ'। कांग्रेस में ऐसे ही प्रयोग अब राहुल गांधी कर रहे हैं, लेकिन वो चुनावों में झूठ बोल-बोलकर, झूठे वादे करके, असत्य को लेकर प्रयोग कर रहे हैं- एक्सपेरीमेंट्स विथ अनट्रूथ। श्री चौहान ने कहा कि महात्मा गांधी ने कभी यह कहा था कि देश आजादी दिलाना कांग्रेस का लक्ष्य और उद्देश्य था और अब वह वह पूरा हो गया है। अब कांग्रेस को भंग कर देना चाहिए। लेकिन महात्मा गांधी की यह बात पंडित जवाहरलाल नेहरू जी ने नहीं मानी। लेकिन अब लगता है राहुल गांधी ने यह संकल्प लिया है कि वह महात्मा गांधी जी द्वारा कही गई बात को पूरा सच साबित करके रहेंगे। ऐसा लगता है कि उन्होंने कांग्रेस की समाप्ति का जिम्मा उठा रखा है।

देश के विरोधियों को गले लगाती क्यों है कांग्रेस :

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस की सोच का कोई ठिकाना नहीं है। मैं ये पूछना चाहता हूं कि कांग्रेस किस दिशा में जा रही है? असम में ये अजमल से समझौता करते हैं। अजमल घुसपैठियों को संरक्षण देने वाला है। असम की संस्कृति और सुरक्षा को अगर किसी व्यक्ति से खतरा है तो वह बदरुद्दीन अजमल है। मैं राहुल गांधी और मैडम सोनिया गांधी से ये पूछना चाहता हूं कि अजमल से समझौता क्यों किया? तुम्हें गुलाम नबी आजाद नहीं चाहिए, आनंद शर्मा नहीं चाहिए। तुम्हें अजमल चाहिए जबकि अजमल को स्वीकार करने से तरुण गोगोई ने इंकार कर दिया था। असम में कांग्रेस ने अजमल को गले लगाया है, केरल में ये मुस्लिम लीग और पश्चिम बंगाल में फुरफुरा शरीफ के साथ हैं। कांग्रेस ऐसे ही लोगों को गले क्यों लगाती है?

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co