Raj Express
www.rajexpress.co
Citizenship Amendment Bill 2019
Citizenship Amendment Bill 2019|Social Media
पॉलिटिक्स

नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा में पास, अब सरकार की असली परीक्षा

नागरिकता संशोधन बिल पर चली काफी बहस और विपक्ष के विरोध के बाद भी आखिरकार अमित शाह लोकसभा की परीक्षा में तो पास हो गए हैं, लेकिन अब राज्‍यसभा में यह बिल पेश होने की तैयारी हो रही है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। लोकसभा में सोमवार को 'नागरिकता संशोधन बिल' पेश होने के बाद अग्निपरीक्षा की घड़ी शुरू हो गई थी, जिसमें विपक्ष के विरोध और काफी बहस होने बाद आखिकार यह बिल देर रात लोकसभा से पारित हो चुका (Citizenship Amendment Bill 2019) है, संसद की इस परीक्षा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पास हो गए हैं।

अब सरकार की असली परीक्षा :

लोकसभा की परीक्षा में अमित शाह पास हो गए, लेकिन अब मोदी सरकार की असली परीक्षा होनी है, क्‍योंकि यह बिल अभी राज्‍यसभा में पेश होगा, जिसकी तैयारी शुरू हो गई है।

अमित शाह ने दिए सभी सवालों के जवाब :

गृह मंत्री अमित शाह ने विपक्ष के सभी सवालों का जवाब देते हुए बिल पेश किया था, हालांकि जब इस बिल को लेकर बहस चल रही थी, तभी अमित शाह ने भी कांग्रेस पर जमकर हमला बोला और उन सभी बातों को भी खारिज कर दिया, जिनकोे मुस्लिम विरोधी बताया जा रहा था।

बिल के पेश होने के पक्ष में वोटिंग :

लोकसभा में नागरिकता बिल पेश की वोटिंग भी की गई थी, जिसमें इस बिल के पक्ष में 311 वोट तथा विपक्ष में 80 वोट पड़े हैं। गौर करने वाली बात तो यह है कि, महाराष्‍ट्र में भले ही शिवसेना भाजपा से गठबंधन तोड़ चुकी हो, परंतु इस बिल को पेश करने को लेकर BJP के पक्ष में ही वोट डाला है।

बिल का समर्थन करते हुए बोले गृहमंत्री-

बिल किसी भी तरह से संविधान विरोधी नहीं है। बिल भेदभाव को खत्म करने की दिशा में एक कदम है और यह किसी भी तरह से मुस्लिमों के खिलाफ नहीं है। न तो मुस्लिमों को और न ही पूर्वोत्तर में रहने वाले लोगों को इस बिल को लेकर चिंता करने की जरूरत है।
गृहमंत्री अमित शाह

संसद में एक बार फिर गृहमंत्री अमित शाह को बेहद आक्रामक अंदाज में हिंदुत्व की पिच पर खेलते हुए देखा गया।

संसद में बिल को लेकर चली चर्चा में अमित शाह ने यह बात भी कही कि, ''इस बिल से पूर्वोत्तर के कई राज्यों और इलाकों को अलग रखा गया है, इन राज्यों और इलाकों में यह बिल लागू नहीं होगा।''

क्‍या है विपक्षी दलों का कहना?

कांग्रेस समेत विपक्षी दलों का यह कहना है कि, ''पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए उन देशों के धार्मिक अल्पसंख्यकों को नागरिकता दी जा रही है। इसमें खास तौर पर मुस्लिमों को अलग रखा गया है और यह भेदभाव है।''

PM मोदी ने की शाह की तारीफ :

लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पास होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमित शाह की तारीफ की हैं, तो वहीं अमित शाह ने भी PM मोदी को शुक्रिया अदा किया।

बता दें कि, नागरिकता संशोधन विधेयक में बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के हिंदू, जैन, ईसाई, सिख, बौद्ध और पारसी समुदाय को भारतीय नागरिकता देने का प्रस्ताव है, इस विधेयक से मुस्लिम समुदाय को बाहर रखा गया है। बिल पेश करने के दौरान अमित शाह के अलावा भी अन्‍य नेताओं ने क्‍या-क्‍या कहा, यह जानने के लिए आप नीचे दी गई लिंक पर क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर-

संसद में नागरिकता संशोधन बिल पेश, अग्निपरीक्षा की घड़ी शुरू

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।