राजस्थान CM गहलोत का तीखा जुबानी हमला-पायलट 'निकम्मा-नाकारा-धोखेबाज' है
राजस्थान CM गहलोत का तीखा जुबानी हमला-पायलट 'निकम्मा-नाकारा-धोखेबाज' है |Social Media
पॉलिटिक्स

राजस्थान CM गहलोत का तीखा जुबानी हमला-पायलट 'निकम्मा-नाकारा-धोखेबाज' है

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट की लड़ाई तीखी हो रही है, अब हाल ही में CM गहलोत ने सबसे बड़ा हमला बोलते हुए कहा, पायलट ने कांग्रेस की पीठ पीछे छुरा घोंपने का काम किया है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राजस्थान, भारत। राजस्थान में मचा सियासी भूचाल कम नहीं हो रहा है और दिनों दिन राज्‍य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट की लड़ाई तीखी होती जा रही है। अब आज सोमवार को CM अशोक गहलोत ने कांग्रेस के बागी नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट पर सबसे बड़ा जुबानी हमला बोला है।

CM गहलोत का बयान :

दरअसल, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा हाल ही ये बड़ा बयान दिया गया है कि, ऐसी नौबत आई ही क्यों कि आज हमारे अपने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट कोर्ट पहुंच गए। पायलट 7 साल प्रदेश के अध्यक्ष रहे, हमने कभी सचिन पायलट पर सवाल नहीं किया, सात साल के अंदर एक राजस्थान ही ऐसा राज्य है जहां प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को बदलने की मांग नहीं की गई।

गहलोत ने पायलट को कहा निकम्मे और नकारा :

मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री गहलोत ने सचिन पायलटपर खुलकर हमला बोलते हुए कहा कि, ''आलाकमान का उनपर इतना विश्वास था, लेकिन जिस रूप से पिछले 6 महीने से उन्होंने बीजेपी के साथ मिलकर पार्टी से अलग होकर साजिश रची। हम जानते थे कि वो निकम्मे थे, नकारा थे, लेकिन मैं यहां बैंगन बेचने नहीं आया हूं, मुख्यमंत्री बनकर आया हूं। हम नहीं चाहते हैं कि उनके खिलाफ कोई कुछ बोले, सभी ने उनको सम्मान दिया है।''

इस दौरान CM अशोक गहलोत ने ये भी कहा कि, सोनिया गांधी, राहुल गांधी का सचिन पायलट पर भरोसा था और इसलिए पिछले 7 सालों से उन्हें प्रदेश कांग्रेस का जिम्मा दे रखा था। ये बड़ी बात है। हमने पायलट को मान-सम्मान दिया, लेकिन पायलट ने कांग्रेट पार्टी की पीठ पीछे छुरा घोंपने का काम किया है।

सचिन पायलट ने जिस रूप में खेल खेला वो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है, किसी को यकीन नहीं होता कि ये व्यक्ति ऐसा कर सकता है मासूम चेहरा, हिंदी-इंग्लिश पर अच्छी कमांड और पूरे देश की मीडिया को इम्प्रेस कर रखा है।

मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत

आगे CM गहलोत ने ये भी कहा कि, ''हमारे विधायक बिना किसी प्रतिबंध के रह रहे हैं, लेकिन उन्होंने अपने विधायकों को बंदी बना रखे हैं। वे हमें फोन कर रहे हैं और फोन पर रो रहे हैं और अपना दुखड़ा रो रहे हैं। उनके निजी मोबाइल फोन छीन लिए गए हैं। उनमें से कुछ हमसे जुड़ना चाहते हैं।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co