जोधपुर में अपने भाई के घर में CBI के छापे पर बोले सीएम गहलोत, कहा- परिवार के लोगों का क्या कसूर
जोधपुर में अपने भाई के घर में CBI के छापे पर बोले सीएम गहलोतSocial Media

जोधपुर में अपने भाई के घर में CBI के छापे पर बोले सीएम गहलोत, कहा- परिवार के लोगों का क्या कसूर

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के बड़े भाई अग्रसेन गहलोत के यहां सीबीआई (CBI) की कार्रवाई जारी है। अब उन्होंने इस पर सीबीआई छापेमारी पर प्रतिक्रिया दी है।

जोधपुर, भारत। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के बड़े भाई अग्रसेन गहलोत के यहां सीबीआई (CBI) की कार्रवाई जारी है। अब अशोक गहलोत ने अपने भाई के आवास पर सीबीआई छापेमारी पर प्रतिक्रिया दी है।

अशोक गहलोत ने कही यह बात:

जोधपुर में अपने भाई के घर में CBI के छापे पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि, "परिवार के लोगों का क्या कसूर है? मेरे परिवार और मेरे भाई का राजनीति से कोई लेना देना नहीं है। पिछले 40-45 सालों से मेरा भाई अपना खुद का व्यवसाय कर रहा है, किसी भी तरह से वो राजनीति में शामिल नहीं है।"

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आगे कहा कि, "जितना अधिक वे (भाजपा) लोगों को परेशान करेगी, उतनी ही अधिक प्रतिक्रिया का सामना उन्हें करना पड़ेगा।"

अशोक गहलोत ने कहा कि, "मैंने तो टाइम मांगा था CBI के, ED के डायरेक्टर साहब से और इनकम टैक्स के चेयरमैन साहब से, 13 को टाइम मांगा,15 को मुकदमा दर्ज हो गया और 17 को रेड हो गयी, पता नहीं ये क्या अप्रोच है ये समझ के परे है। जब पहले क्राइसिस आया था। हमारे ऊपर पॉलिटिकल तब भी उनके यहां जोधपुर में ED की रेड हुई थी।"

उन्होंने कहा कि, "40-45 साल से ब्रदर अपना काम करते हैं और मैं अपना काम करता हूं अब मैं अगर दिल्ली में एक्टिव हूं या राहुल जी के इस मूमेंट में मैंने भाग लिया तो उसका बदला भाई से क्यूं लिया जाता है? क्राइसिस सरकार पर आया था तब भी उनके यहां ED की रेड हो गयी, जबकि उनका कोई संबंध ही नहीं है राजनीति से।"

उन्होंने आगे बताया कि, "जैसे मोदीजी के भाई को कोई नहीं जानता था, उसी प्रकार मेरे भाई को भी कोई नहीं जानता था अब पूरा मीडिया चला रहा है CBI का छापा।राजनीति में भाग ले रहे कोई भी व्यक्ति पर या उसके परिवार वाले पर अटैक हो और वो भी सरकार द्वारा तो मैं समझता हूं उचित नहीं कहा जा सकता इससे हम घबराने वाले नहीं है।"

उन्होंने आगे कहा, "अगर इजरायल की तरह बात आपके दिमाग में आई तो युवाओं को विश्वास में लेना चाहिए था, जो लाखों लोग इंतजार कर रहे थे नौकरी का उसके बजाय आपने थोप दिया उन पर अग्निपथ,अग्निवीर, अब मुझे तो चिंता लगी हुई है कहीं ये RSS-BJP के नौजवानों को भर्ती करके 4 साल की ट्रेनिंग दिलाकर उनको कहां भेजेंगे।"

उन्होंने कहा कि, "वहां इजरायल में तो स्कीम बनी हुई है उनकी पूरी, वहां नौकरियों की कमी नहीं है, वहां मैनपावर की कमी है, इसलिए उन्होंने एक सिस्टम बना रखा है। हमारे यहां मैनपावर की कमी नहीं है, नौकरियों की कमी है, उल्टा मामला है हमारे देश के अंदर, तो आप इजरायल से कंपेयर नहीं कर सकते हो।"

अशोक गहलोत ने कहा कि, "CBI, इनकम टैक्स, ED तीनों एजेंसियों के हैड से मैं पुनः टाइम मांगूंगा, ये तीनों हमारे देश की प्रतिष्ठित संस्थाएं हैं। मैं चाहूंगा कि एज ए मुख्यमंत्री, एज ए नागरिक मैं उनको बताऊं कि देश में आपके बारे में क्या ओपिनियन बनी हुई है, क्यों बनी हुई है, उनको सुनने में तकलीफ होती है, क्या हम आज CM हैं, PM हैं, जनता कोई बात कहती है, अच्छी भी लगती है नहीं भी लगती, तब भी लोकतंत्र में सुनी जाती है, ये तो ब्यूरोक्रेट हैं इनको हमारी बात सुननी चाहिए, फैसला उनका खुद का है तोसुनने में क्या ऐतराज है? और मैं उनको बताना चाहता हूं जो मैं फील करता हूं,उन्हें मुझको टाइम देना चाहिए।"

बता दें कि, अशोक गहलोत के भाई के घर और दुकान पर CBI ने छापा मारा है। अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत पर आरोप है कि, साल 2007 से 2009 के बीच फर्टिलाइजर बनाने के लिए जरूरी पोटाश किसानों में बांटने के नाम पर सरकार से सब्सिडी पर खरीदी और प्रोडक्ट निजी कंपनियों को बेचकर मुनाफा कमाया। ED में भी इस मामले की जांच चल रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co