गुजरात: आदिवासी संकल्प महासम्मेलन को CM केजरीवाल ने किया संबोधित
गुजरात: आदिवासी संकल्प महासम्मेलन को CM केजरीवाल ने किया संबोधितSocial Media

गुजरात: आदिवासी संकल्प महासम्मेलन को CM केजरीवाल ने किया संबोधित

गुजरात के भरूच में दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अर‍विंद केजरीवाल ने आदिवासी संकल्प महासम्मेलन को संबोधित कर अपने संबोधन में कहीं ये बातें...

गुजरात, भारत। AAP के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज गुजरात पहुंचे, यहां उन्‍होंने भरूच में आदिवासी संकल्प महासम्मेलन में हिस्सा लिया और आदिवासी संकल्प महासम्मेलन को संबोधित किया।

आदिवासियों पर बहुत जुल्‍म हुआ :

भरूच में आदिवासी संकल्प महासम्मेलन को संबोधित करते हुए AAP के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा- गुजरात में एक करोड़ से भी ज्‍यादा आदिवासी रहते है, सबको मेरा प्रणाम। साढ़े 6 करोड़ गुजरातियों को इस मंच से मेरा प्रणाम, पंजाब जीतने के बाद ये हमारी पहली जनसभा है तो हम आदिवासियों के साथ रख रहे है। आदिवासियों पर बहुत जुल्‍म हुआ। पहले अंग्रेजों ने किया और अब ये कर रहे है।

बड़ी विडंबना है कि, देश के 2 सबसे अमीर आदमी गुजरात से आते हैं, और देश के सबसे गरीब आदिवासी भी गुजरात से ही आते हैं। कांग्रेस और भाजपा अमीरों के साथ खड़ी है। अमीरों को और अमीर बना रही है। आम आदमी पार्टी गरीबों के साथ खड़ी है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा- मैं आपको कहता हूं कि हमें एक मौका दे दो हम आपकी गरीबी दूर कर देंगे। हम लोग आपके साथ खड़े हैं और हम गरीबों और आम लोगों की पार्टी है।

  • गुजरात में हमारी पहली रैली है और हम ये आदिवासी इलाके में कर रहे हैं। पहले आदिवासियों के साथ अंग्रेजों ने अन्याय किया, फिर हमारे देश के ही लोगों ने आदिवासियों का शोषण किया। बड़े-बड़े Projects के नाम पर उनको विस्थापित किया गया।

  • दिल्‍ली के लोग मुझे बहुत प्यार करते हैं, आज मैं गुजरात के लोगों से प्यार मांगने आया हूँ। मैं गुजरात के 6 करोड़ लोगों के साथ दिल से दिल का रिश्ता बनाने आया हूँ।

  • BJP वाले WhatsApp पर चला रहे हैं "केजरीवाल के सरकारी स्कूल ख़राब हैं.." मैं गुजरात CM भूपेंद्र पटेल जी को आमंत्रित करता हूं: आइए, हमारे स्कूल और अस्पताल देखिए। ऐसे ही मत Criticize करिए। 27 साल से गुजरात में BJP की सरकार है और 27 साल में उन्होंने यहां के स्कूल का बुरा हाल कर दिया। इन्हें और 5 साल दे दो फिर भी यहां कुछ नहीं होगा। हमें एक मौका दे दो हमने अगर 5 साल में यहां के सभी स्कूल ठीक नहीं किए तो हमें यहां से भाग दीजिएगा।

  • गुजरात के सरकारी स्कूलों की बहुत बुरी हालत है। लाखों बच्चों का भविष्य खराब हो रहा है, दिल्ली की तरह गुजरात भी बदल सकता है। दिल्‍ली सरकारी स्‍कूल में Judge, अफ़सर और रिक्शेवाले के बच्चे एक ही Bench पर बैठकर पढ़ते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.