CM Nitish Kumar
CM Nitish Kumar|Priyana Sahu -RE
पॉलिटिक्स

CAA-NRC: JDU नेता को CM नीतीश का जवाब-'जिसे जहां जाना है चला जाएं'

CAA और NRC के मुद्देे पर एक ही पार्टी के नेता यानी JDU में सभी अलग-अलग बात कह रहे हैं। इसी को लेकर CM नीतीश कुमार ने आज जदयू नेता प्रशांत किशोर और पवन वर्मा को दो टूक जवाब देते हुए यह बात कह दी...

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। नागरिकता संशोधन कानून के मसले पर इन दिनों सरकार और विपक्ष दोनों में बयानबाजी की जंग जारी है, इसके अलावा एक ही पार्टी के नेता अलग-अलग बात कह रहे हैं, जी हां! हम जनता दल यूनाइटेड (JDU) की ही बात कर रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने आज उन्‍हीं की पार्टी यानी जदयू नेता प्रशांत किशोर और पवन वर्मा को दो टूक जवाब दे दिया है।

क्‍या बोले CM नीतीश कुमार?

दरअसल, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज साफ कहा है कि, ''जिसे जहां जाना है चला जाए, मेरी शुभकामनाएं साथ हैं। ये लोग विद्वान हैं। मैं इनकी इज्जत करता हूं, भले ही वे न करें।''

इसके अलावा आगे उन्‍होंने यह बात भी कही कि, कुछ लोगों के बयान से जदयू को नहीं देखना चाहिए, जदयू बहुत ही दृढ़ता से अपना काम करती है। हम लोगों का स्टैंड साफ होता है। एक भी चीज पर हम लोग कन्फ्यूजन में नहीं रहते। अगर किसी के मन में कुछ है तो आकर बातचीत करनी चाहिए, पार्टी की बैठक में चर्चा करनी चाहिए।

ऐसा क्‍यों बोले CM नीतिश कुमार?

बताते चलें कि, CM नीतीश कुमार ने ऐसा इसलिए कहा, क्‍योंकि पार्टी महासचिव व पूर्व सांसद पवन कुमार वर्मा ने CAA पर पार्टी के फैसले के खिलाफ नीतीश कुमार को पत्र लिखा था। इसके अलावा CM नीतीश कुमार के बयान के बाद पवन वर्मा ने जवाब देते हुए कहा कि, ''मुख्यमंत्री के बयान का वो स्वागत करते हैं...पार्टी में अभी भी विचार विमर्श की जगह बची है, लेकिन मेरा मकसद उन्हें कष्ट देना नहीं था।'' वहीं, पवन वर्मा का यह कहना भी है कि, अभी तक उन्हें उनकी चिट्ठी का जवाब नहीं मिला है, लेकिन शुभकामनाओं के लिए उनका धन्यवाद...

नीतीश को NRC और CAA जैसे ज्‍वलंत मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए, उन्‍होंने मेरे पत्र का जवाब नहीं दिया है। जवाब मिलने के बाद तय करूंगा कि पार्टी में रहूंगा या नहीं।
पवन कुमार वर्मा

प्रशांत किशोर की अमित शाह को चुनौती :

इसके अलावा CAA के विरोध में जदयू राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने भी कल यानी 22 जनवरी को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को सीएए और एनआरसी लागू करने की चुनौती दे दी थी। इस लिंक पर क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर- CAA के विरोध करने वालों की परवाह नहीं तो आगे क्यों नहीं बढ़ जाते

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co