सत्येंद्र जैन को बदनाम करने की साजिश रची गई : आप
सत्येंद्र जैन को बदनाम करने की साजिश रची गई : आपSocial Media

सत्येंद्र जैन को बदनाम करने की साजिश रची गई : आप

आम आदमी पार्टी (आप) ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय ( ईडी) के छापे में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के घर से कुछ नहीं मिला है, सिर्फ उनको बदनाम करने की साजिश रची गई है।

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय ( ईडी) के छापे में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के घर से कुछ नहीं मिला है, सिर्फ उनको बदनाम करने की साजिश रची गई है। 'आप' के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने बुधवार को पत्रकारों से कहा कि श्री जैन के घर से ईडी को कुछ भी नहीं मिला है। ईडी ने श्री जैन को इतने दिनों से अपनी कस्टडी में रखा और पूछताछ की, लेकिन कुछ हासिल नहीं हुआ। उनके परिवार का उत्पीड़न करने के लिए उनके घर पहुंच गए। घर में पत्नी और बच्चे थे। सारे ईडी के अधिकारी एक दिन बैठे रहे। उनके यहां छापे में क्या निकला,कल से हल्ला मचाया जा रहा है कि इतने करोड़ रुपए और ज्वैलरी मिल गई।

उन्होंने कहा,'' भाजपाइयों से कहना चाहूंगा कि थोड़ा पढ़ लिख लिया करें और अपने दिमाग पर भी थोड़ा जोर दिया करो। सिर्फ आरोप लगाने को आ जाते हो, तो ऐसा लगता है कि सारा कार्यक्रम प्रायोजित है। ऐसा लग रहा है कि ईडी भारतीय जनता पार्टी के दफ्तर से चल रही है। सत्येंद्र जैन के घर पर 2.79 लाख रुपए मिला। यह ईडी के कागज कह रहे हैं। ईडी ने उस नकदी को सीज नहीं किया, क्योंकि वह पैसा ईमानदारी का था।"

उन्होंने कहा कि श्री जैन वही व्यक्ति हैं, जिनकी तारीफ तत्कालीन केंद्रीय नगर विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने भी की थी। श्री जैन ने 250 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले पुल को 150 करोड़ रुपए में बनाया था। यह वही व्यक्ति हैं, जिन्होंने दिल्ली के अंदर 20 लाख रुपए का एक मोहल्ला क्लीनिक बनाने का मॉडल दिया। जिसकी चर्चा आज पूरी दुनिया में हो रही है। आज भाजपाई जो भी मन में आ रहा है, वो आरोप लगा रहे हैं। बगैर सिर-पैर के आरोप लगा रहे हैं। आठ साल पुराना मामला है और उसमें सात बार उनसे पूछताछ हो गई है। कुछ भी नहीं निकला था। अलग-अलग मुद्दों से देश का पूरा ध्यान हटाने के लिए भाजपाई रोज नया ड्रामा लेकर आ जाते हैं।"

'आप' के नेता ने कहा,'' ईडी ने नौ साल में 1700 छापे मारे हैं जिनमें नौ लोगों पर दोष सिद्ध हुआ है। एक संस्था, जिसको आप सिर्फ और सिर्फ दूसरों का गला दबाने का इस्तेमाल कर रहे हैं। दूसरों को और उसके परिवार को अपमानित करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। सीबीआई को सुप्रीम कोर्ट ने तोता कह दिया था। अब ईडी मैना निकल गई है। तोता-मैना को अपने हिसाब से जैसे सरकार चाहती है, वैसे नचाती है। मैं दोहराना चाहता हूं कि सत्येंद्र जैन के घर से ईडी के छापे में कुछ भी नहीं निकला और उनको बदनाम करने की साजिश रची गई है, जिसमें कामयाबी नहीं मिलेगी। क्योंकि पहले भी ये लोग मुंह की खा चुके हैं और आगे भी मुंह की खाएंगे। हमारे तमाम विधायकों पर इन्होंने एफआईआर किया। मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के घर पर छापा मार कर देख चुके हैं, अभी तक कुछ नहीं मिला है।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co