सबसे बड़ा राष्ट्रीय मुद्दा बेरोजगारी जिसके समाधान है, पर सरकार करना नहीं चाहती : राहुल
सबसे बड़ा राष्ट्रीय मुद्दा बेरोजगारी जिसके समाधान है, पर सरकार करना नहीं चाहती : राहुलSyed Dabeer Hussain - RE

सबसे बड़ा राष्ट्रीय मुद्दा बेरोजगारी जिसके समाधान है, पर सरकार करना नहीं चाहती : राहुल

राहुल गांधी ने आज बेरोज़गारी को सबसे बड़ा राष्ट्रीय मुद्दा बताया और इसके कुछ समाधान भी बताएं, साथ ही मोदी सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा- समाधान है, लेकिन केंद्र सरकार समाधान करना नहीं चाहती।

दिल्‍ली, भारत। जैसा सभी को पता ही होगा कि, आज देश में सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी की बनी हुई है और थोड़ी कुछ बची हुई कसर थी, तो वो महामारी कोरोना ने पूरी कर दी, ऐसा इसलिए, क्योंकि कोरोना काल के दौरान बहुत से लोग अपनी नौकरी से साथ धो बैठें हैं। देश में बेरोजगारी का ग्राफ बढ़ता जा रहा है, ऐसे में विपक्ष को सरकार को घेरने का मौका मिला, जिसे न गंवाते हुए आज शुक्रवार को विपक्ष की मुख्‍य पार्टी कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार पर जोरदार कटाक्ष किया और बेरोजगारी को सबसे बड़ा राष्ट्रीय मुद्दा बताते हुए कहा इसके कुछ समाधान बताएं।

सबसे बड़ा राष्ट्रीय मुद्दा है बेरोजगारी :

दरअसल, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने हाल ही में अपने ट्विटर आकउंट से ट्वीट साझा करते हुए बेरोजगारी को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है और इस दौरान उन्‍होंने बेरोज़गारी के कुछ समाधानों को भी बताया, साथ ही ये भी कहा बेरोजगारी के कुछ समाधान है, लेकिन केंद्र सरकार इसका समाधान करना नहीं चाहती है। उन्‍होंने ट्वीट में लिखा- सबसे बड़ा राष्ट्रीय मुद्दा बेरोज़गारी है जिसके कुछ सीधे समाधान हैं-

PSU-PSB मत बेचो

MSME को आर्थिक मदद दो

मित्रों की नहीं, देश की सोचो।

लेकिन केंद्र सरकार समाधान करना नहीं चाहती।

मोदी सरकार रोज़गार के लिए हानिकारक है :

हालांकि, इससे पहले आज ही सुबह के समय कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार को घेरते हुए यह प्रतिक्रिया दी थी और कहा कि, ''मोदी सरकार रोज़गार के लिए हानिकारक है। वे किसी भी प्रकार के ‘मित्रहीन’ व्यवसाय या रोज़गार को बढ़ावा या सहारा नहीं देते, बल्कि जिनके पास नौकरी है उसे भी छीनने में लगे हैं। देशवासियों से आत्मनिर्भरता का ढोंग अपेक्षित है। जनहित में जारी।''

जानकारी के लिए बताते चलें कि, बेरोजगारी को लेकर सीएमआईई की ओर से एक रिपार्ट जारी हुई, जिसमें बताया गया कि, ''भारत में अगस्‍त के महीने में 15 लाख लोगों को नौकरियों से हाथ धोना पड़ा है।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co