PMC बैंक घोटाला: ED की सुई घूमी संजय राउत की पत्नी पर, घंटों चली पूछताछ
ED questioned Sanjay Raut's wife in PMC bank scamSyed Dabeer Hussain - RE

PMC बैंक घोटाला: ED की सुई घूमी संजय राउत की पत्नी पर, घंटों चली पूछताछ

पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (PMC) बैंक से जुड़े घोटाले वाले मामले से जुडी पूछताछ करने के लिए ED ने सोमवार को शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को अपने दफ्तर बुलाया।

राज एक्सप्रेस। पिछले साल पंजाब एंड महाराष्ट्र (PMC) को-ऑपरेटिव बैंक से जुड़ा एक घोटाला सामने आया था। इस मामले की जांच कर रही प्रवर्तन निदेशालय (ED) की सुई अब शिवसेना सांसद संजय राउत के परिवार पर आ रुकी है। इस मामले से जुड़ी पूछताछ करने के लिए ED ने सोमवार को शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को अपने दफ्तर बुलाया।

संजय राउत की पत्नी से हुई पूछताछ :

दरअसल, पंजाब एंड महाराष्ट्र (PMC) को-ऑपरेटिव बैंक से घोटाले के तहत घोटाले की रकम की राशि 6500 रुपये थी। इस मामले में मेट्रोपोलिटन अदालत में 32 हजार पन्नों की चार्जशीट जमा की गई थी। इस ममले में जब कड़ियां जुड़ने लगीं तो शिवसेना सांसद संजय राउत और उनके परिवार का नाम भी सामने आया। उनका नाम सामने आते ही ED की टीम तुरंत एक्टिव हो गई और पहले संजय राउत को पूछताछ के लिए बुलया और अब ED ने इस घोटाले से जुड़े सवाल पूछने के लिए उनकी पत्नी वर्षा राउत को आज ED के दफ्तर बुलाया गया।

संजय राउत ने साधा एजेंसी पर निशाना :

प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा पत्नी वर्षा राउत को समन भेजने के बाद संजय राउत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए एजेंसी पर निशाना साधा और BJP के निर्देश पर काम करने का आरोप लगाया। साथ ही भड़कते हुए कहा कि, "हम किसी से भी डरने वाले नहीं है। महिलाओं को टारगेट करना कायरता है। घर की महिलाओं को निशाना बनाना कायरता का काम है। हम किसी से डर नहीं रहे हैं और मांगे गए जवाब के अनुसार ही प्रतिक्रिया देंगे। ईडी को कुछ पेपर चाहिए थे, जिसे हमने समय पर सब्मिट कर दिए।''

प्रवीण राउत नाम के कुछ संदिग्ध ट्रांजेक्शंस आए सामने :

इस घोटाले की जांच के दौरान संजय राउत के दोस्त प्रवीण राउत से जुड़े खातों की स्कैनिंग करते हुए कुछ संदिग्ध ट्रांजेक्शंस सामने आए। बता दें, प्रवीण एक हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (HDIL) की सब्सिडयरी गुरुआशीष कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के पूर्व डायरेक्टर हैं। प्रवीण राउत पर PMC बैंक से 6,670 करोड़ रुपये से ज्यादा की धोखाधड़ी करने का आरोप लगा है। PMC बैंक मामले और एचडीआईएल की भागीदारी की जांच के दौरान, ED को पता चला था कि, प्रवीण राउत द्वारा HDIL के द्वारा 95 करोड़ रुपये अलग-अलग व्यक्तियों के साथ "सक्रिय साजिश और मिलीभगत" करके निकाले गए।

धोखाधड़ी की शुरुआत :

खबरों की मानें तो, इस धोखाधड़ी की शुरुआत कुछ ऐसे हुई कि, प्रवीण राउत ने अपनी पत्नी माधुरी को 1.6 करोड़ रुपये दिए थे और माधुरी ने इसके बाद साल 2010 और 2011 में ब्याज दर लिए बिना 55 लाख रुपये वर्षा राउत को कर्ज दिया था। इस मामले में ED ने बताया कि, 'इस रकम का इस्तेमाल वर्षा राउत ने दादर में फ्लैट खरीदने में किया। वहीं, जांच में पता चला कि वर्षा राउत और माधुरी अवनी कंस्ट्रक्शन में पार्टनर हैं। 12 लाख रुपये की राशि अभी भी बकाया है। ED के अधिकारी इन लेनदेन के संबंध में वर्षा राउत से पूछताछ करना चाहते हैं।

क्या था PMC बैंक घोटाला मामला :

PMC बैंक घोटाले की खबर सितंबर में सामने आई थी। इस मामले में बैंक ने लगभग दिवालिया हो चुके HDIL को दिये गए लोन में लगभग 6,700 करोड़ रुपये को छुपाने की मंशा से ऐसे अकाउंट खोले, जिनकी जानकारी बैंक को नहीं थी। बताते चलें कि, 23 सितंबर 2019 को RBI द्वारा बैंक पर नियामक प्रतिबंध लगा दिये गए थे। शुरुआत में इन अकॉउंटहोल्डरों के लिये पैसे निकालने की सीमा 1000 रुपये प्रतिदिन रखी गई थी, जिसे बाद में एक दम से ही बढ़ा कर 50 हजार रुपये कर दिया गया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co