दिल्ली की वायु गुणवत्ता को लेकर पर्यावरण मंत्री गोपाल ने BJP पर लगाया यह आरोप
पर्यावरण मंत्री गोपाल ने BJP पर लगाया यह आरोपSocial Media

दिल्ली की वायु गुणवत्ता को लेकर पर्यावरण मंत्री गोपाल ने BJP पर लगाया यह आरोप

दिल्‍ली-एनसीआर में प्रदूषण बढ़ने के मसले पर दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय का बयान आया, जिसमें उन्‍होंने BJP पर यह आरोप लगाया। साथ ही दिल्लीवासियों को धन्यवाद दिया...

दिल्ली, भारत। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में दिवाली पर खूब पटाखें फूटे, शायद इसी के कारण आज शुक्रवार की सुबह यहां घने कोहरे की मोटी परत छाई हुई नजर आई। इतना ही नहीं हालत ऐसे रहे कि, कई हिस्सों में निवासियों को गले में जलन और आंखों में पानी आने की दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इस बीच दिल्‍ली-एनसीआर में प्रदूषण बढ़ने के मसले पर दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय का बयान भी आया।

दरअसल, दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आज शुक्रवार को शहर में वायु गुणवत्ता बिगड़ने के लिए पटाखे और पराली जलाए जाने को जिम्मेदार ठहराया और कहा- दिल्ली में इस साल अक्तूबर में प्रदूषण का स्तर पिछले पांच सालों इस दौरान दर्ज कराए गए प्रदूषण के मुकाबले सबसे कम रहा है। दिल्ली के आस-पास पराली जलाए जाने की करीब 3500 घटनाओं का असर आज राष्ट्रीय राजधानी में दिखा।

BJP पर लगाया यह आरोप :

इस दौरान उन्होंने BJP पर आरोप लगाते हुए यह बात भी कि, ''दीपावली की रात बीजेपी वालों ने जानबूझकर बम पटाखे चलवाए हैं, ताकि दिल्ली सरकार को बदनाम किया जा सके। हम उन दिल्लीवासियों को धन्यवाद देते हैं, जिन्होंने बम पटाखे नहीं चलाएं। कुछ थोड़े से लोगों ने बम पटाखे चलाए, जिसका असर दिल्ली के प्रदूषण पर दिखा है। बीजेपी नेताओं ने जानबूझकर जनता को उकसाया कि, त्यौहार है बम जलाने से कुछ नहीं होगा।''

गौरतलब है कि, दिवाली की अगली सुबह देश की राजधानी दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में वायु गुणवत्ता 'खतरनाक' स्थिति में देखा जाता है और आसमान पर धुंध की मोटी चादर छाई रहती है। हालांकि, इस बार भी प्रदूषण को नियंत्रण के लिए दिल्ली सरकार ने पटाखों की बिक्री एवं इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी। अगर दिल्ली की वायु गुणवत्ता की बात करें तो केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने वाले महीन कण यानी पीएम2.5 की 24 घंटे की औसत सांद्रता बढ़कर शुक्रवार को सुबह 9 बजे 410 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर हो गयी जो 60 माइकोग्राम प्रति घन मीटर की सुरक्षित दर से करीब सात गुना अधिक है। बृहस्पतिवार शाम छह बजे इसकी औसत सांद्रता 243 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co