Raj Express
www.rajexpress.co
Gandhi Family SPG Security
Gandhi Family SPG Security |Social Media
पॉलिटिक्स

गांधी परिवार की सुरक्षा पर सरकार का फैसला, क्‍या मचेगा नया बवाल?

गृह मंत्रालय की एक उच्च स्तरीय बैठक के दौरान गांधी परिवार की SPG सुरक्षा को लेकर एक अहम फैसला लिया गया, जिस पर कांग्रेस का कहना है कि, BJP सरकार बौखलाहट में आकर फैसले ले रही है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। गांधी परिवार को लेकर अभी-अभी एक बड़ी खबर सामने आ रही है, हो सकता है इस मामले को लेकर कोई नया बवाल खड़ा हो, क्‍योंकि भाजपा की मोदी सरकार ने आज गृह मंत्रालय की एक उच्च स्तरीय बैठक में गांधी परिवार की सुरक्षा (Gandhi Family SPG Security) पर एक अहम निर्णय लिया है।

क्‍या है सरकार का अहम फैसला?

दरअसल, अब गांधी परिवार (सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा) को SPG सुरक्षा नहीं मिलेगी, बल्कि कांग्रेस के इन तीनों नेताओं को Z+ श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी, जेड प्लस सुरक्षा के तहत CRPF के कमांडोज गांधी परिवार की सुरक्षा करेंगे।

बताते चलें कि, अभी दो माह पहले ही अगस्‍त में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की एसपीजी सुरक्षा भी हटा दी गई थी, अभी तक एसपीजी की सुरक्षा केवल 4 ही नेताओं के पास थी, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को यह सुरक्षा मिलती थी, लेकिन अब एसपीजी की सुरक्षा सिर्फ PM नरेंद्र मोदी के पास ही रहेगी।

गांधी परिवार से क्‍योंं छिनी SPG सुरक्षा :

सरकार अब गांधी परिवार को स्पेशल प्रोटक्शन ग्रुप (SPG) सुरक्षा नहीं देगी, इसके पीछे कारण यह है कि, समय-समय पर देश की चर्चित हस्तियों को दी जाने वाली सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की जाती है और जरूरत के मुताबिक, इसमें फेरबदल भी किया जाता है। गृह मंत्रालय समय-समय पर सुरक्षा कवर को लेकर समीक्षा करता रहता है। वैसे किसी भी व्यक्ति के सामने संभावित खतरे को देखते हुए यह सुरक्षा दी जाती है, फिलहाल गांधी परिवार को कोई खतरा नहीं है और ऐसे में Z+ की सुरक्षा ही काफी रहेगी।

सरकार के फैसले की कांग्रेस ने की निंदा :

मोदी सरकार के इस फैसले के बाद कांग्रेस पार्टी ने निंदा करते हुए अपनी प्रतिक्रिया में इसे एक साजिश करार दिया और कहा कि, इस फैसले के पीछे आरएसएस की मंशा काम कर रही है।

क्‍या है Z+ श्रेणी ?

SPG की सुरक्षा के बाद Z+ भारत की सर्वोच्च सुरक्षा श्रेणी है, इस श्रेणी में संबंधित विशिष्ट व्यक्ति की सुरक्षा में 36 जवान व 10 से ज्यादा एनएसजी कमांडो के साथ दिल्ली पुलिस, आईटीबीपी या सीआरपीएफ के कमांडो और राज्य के पुलिसकर्मी शामिल होते हैं। इसके अलावा SPG की सुरक्षा सबसे ऊंचे स्तर की होती है, इसमें तैनात कमांडो के पास अत्याधुनिक हथियार और संचार उपकरण होते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।