अमरिंदर ने जो बातें कहीं हैं उनपर फिर से विचार करें-BJP के ना बनें मददगार: हरीश रावत
अमरिंदर ने जो बातें कहीं हैं उनपर फिर से विचार करें-BJP के ना बनें मददगार: हरीश रावतSocial Media

अमरिंदर ने जो बातें कहीं हैं उनपर फिर से विचार करें-BJP के ना बनें मददगार: हरीश रावत

पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने अमरिंदर के बयानों को लेकर यह बड़ा बयान दिया और कहा- BJP जैसी किसान विरोधी, पंजाब विरोधी पार्टी को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तरीके से मदद न पहुंचाएं।

पंजाब, भारत। पंजाब कांग्रेस में कलह का दौर रूक ही नहीं रहा है। राज्‍य के CM पद से इस्‍तीफा दे चुके कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के बगावती तेवर कुछ अगल नजर आ रहे हैं। इस बीच पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने देहरादून में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अमरिंदर सिंह के बयानों को लेकर अपनी प्रतिक्रिया साझा की है।

अमरिंदर सिंह किसी प्रकार के दबाव में हैं :

पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत का पूर्व CM कैप्‍टन अमरिंदर सिंह का लेकर कहा- पार्टी ने अमरिंदर सिंह का कभी अपमान नहीं किया। सीएलपी के बैठक से पहले तीन दिनों तक अमरिंदर मुझसे नहीं मिले, बावजूद इसके पार्टी ने उन्हें हर फैसले के बारे में जानकारी दी। 2-3 दिन से अमरिंदर सिंह के जो बयान आए हैं उससे लगता है कि वो किसी प्रकार के दबाव में हैं। सत्तारूढ़ दल (भाजपा) जिसको पंजाब के किसान, पंजाब के लोग पंजाब का विरोधी मानते हैं, वे अमरिंदर सिंह को मुखौटे के रूप में इस्तेमाल करना चाहते हैं।

मैं फिर से कहना चाहता हूं कि, अभी तक कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जो बातें कहीं हैं उनपर फिर से विचार करें और भाजपा जैसी किसान विरोधी, पंजाब विरोधी पार्टी को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तरीके से मदद न पहुंचाएं।

पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत

आगे उन्‍होने यह भी कहा- विधायक दल की बैठक सोच समझ कर बुलाई गई थी। कैप्टन ने कहा कि, वे बैठक में नहीं आएंगे। कांग्रेस पार्टी ने अब तक जो कुछ किया है वह कैप्टन अमरिंदर सिंह के सम्मान के लिए और 2022 विधानसभा चुनाव में पार्टी की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए किया है। 

बता दें कि, कैप्टन अमरिंदर सिंह की पहले गृह मंत्री अमित शाह, फिर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल से मुलाकात के बाद अटकलों का दौर चल रहा था, ऐसे में कल अमरिंदर सिंह ने साफ कर दिया था कि, ''वह बीजेपी तो जाइन नहीं करेंगे, लेकिन कांग्रेस छोड़ेंगे क्योंकि उनका जो अपमान हुआ वह उनको बर्दाश्त नहीं है।'' इस दौरान सूत्रों के हवाले से यह खबर जरूर भी सामने आ रही है कि, अगले 15 दिन के अंदर अमरिंदर सिंह नई पार्टी बना लेंगे और करीब एक दर्जन कांग्रेसी नेता उनके संपर्क में हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.