Raj Express
www.rajexpress.co
Kota Hospital Infant Death Case
Kota Hospital Infant Death Case|Priyanka Sahu -RE
पॉलिटिक्स

शिशुओं की मौत का आंकड़ा बढ़ा, जायजा लेने पहुंची जोधपुर AIIMS टीम

कोटा में नवजात शिशुओं की मौत का आंकड़ा बढ़कर 107 पर पहुंच चुका है, साथ ही जोधपुर एम्स की टीम ने आज डॉक्टरों व कर्मचारियों से चर्चा कर वहां की व्यवस्था का जायजा लिया है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। राजस्थान में कोटा में लगातार हो रही मासूमों की मौत को लेकर हाहाकार मचा है। यहां के जे.के. लोन हॉस्पिटल में नवजात शिशुओं की मौत का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है, 35 दिनों में अब तक लगभग 107 बच्‍चों की मौत (Kota Hospital Infant Death Case) हो चुकी है।

आज एक बच्ची की मौत :

जे.के. लोन हॉस्पिटल में आज शनिवार सुबह ही एक और नवजात बच्ची की मौत हो चुकी है। साथ ही लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला भी पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए कोटा पहुंचे हैं।

केंद्रीय टीम व जोधपुर एम्स की टीम पहुंची कोटा :

इसके अलावा जोधपुर एम्स की टीम ने भी आज हॉस्पिटल में जाकर डॉक्टरों और वहां उपस्थित कर्मचारियों से चर्चा की एवं वहां की व्यवस्था का भी जायजा लिया। वहीं, शिशुओं की मौत के इस मामले की जांच के लिए एक केंद्रीय टीम भी कोटा के हॉस्पिटल पहुंच गई है। साथ ही कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को हॉस्पिटल का दौरा कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है।

बता दें कि, ऐसा पहली बार नहीं है कि, कोटा में बच्‍चों की मौत का आंकड़ा पहली बार सामने आ रहा हो, बल्कि इससे पहले भी बच्‍चों की मौत का सिलसिला चलता रहा है। यह हैं पहले के आंकड़े-

  • वर्ष 2014 में 15719 बच्चे भर्ती हुए, जिसमें 1198 बच्चों की मौत हुई थी।

  • वर्ष 2015 में 17579 बच्चे भर्ती हुए थे, जिसमें से 1260 बच्चों की मौत हुई थी।

राजस्थान में कोटा के जेके लोन हॉस्पिटल में नवजात शिशुओं की मौत के मामले पर सियासत भी गरमाई हुई है और अब राज्‍य के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत को बर्खास्त करने की मांग भी होने लगी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।