मोदी सरकार के 7 साल- 'सेवा ही संगठन' कार्यक्रम में जेपी नड्डा का संबोधन
मोदी सरकार के 7 साल- 'सेवा ही संगठन' कार्यक्रम में जेपी नड्डा का संबोधनTwitter

मोदी सरकार के 7 साल- 'सेवा ही संगठन' कार्यक्रम में जेपी नड्डा का संबोधन

भाजपा नेता इसे सेवा दिवस के रूप में मना रही है और भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने मोदी सरकार के 7 साल पूरे होने के अवसर पर 'सेवा ही संगठन' कार्यक्रम को संबोधित किया।

दिल्ली, भारत। आज 30 मई को केंद्र की मोदी सरकार को देश की सत्‍ता को संभाले हुए सात साल, जब‍कि मोदी सरकार 2.0 के 2 साल पूरे हो गए हैं। इस दौरान भाजपा नेता इसे सेवा दिवस के रूप में मना रहे हैं और भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने 'सेवा ही संगठन' कार्यक्रम को संबोधित किया।

कोरोना काल में भाजपा सेवा दिवस के रूप में मना रही :

सेवा ही संगठन कार्यक्रम में भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने अपने संबोधन में कहा- प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी को एक प्रधान सेवक के रूप में देश की सत्ता को संभालते हुए आज 7 वर्ष पूरे हो रहे हैं। भाजपा कोरोना संक्रमण काल में इसे सेवा दिवस के रूप में मना रही है। आज 1 लाख गांवों और बस्तियों में भाजपा के करोड़ों कार्यकर्ता सेवाभाव से जरूरतमंदों की सेवा करते हुए उनकी उनकी हर मुसीबत को सुलझाने के लिए प्रयासरत हैं।

चाहे वो राहत सामग्री हो, राशन किट हो, भोजन की व्यवस्था हो, बुजुर्गों को दवाई पहुंचानी हो और इसके साथ साथ उनकी टेस्टिंग करानी हो, ऑक्सीजन या अन्य चीजों की व्यवस्था करनी हो। भाजपा के करोड़ों कार्यकर्ता इस काम में तल्लीन हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा

गांवों या बस्तियों में जाकर सेवा कार्यों में लेंगे भाग :

जेपी नड्डा ने बताया- हमारे सभी सांसद, मंत्री और सभी विधायकों ने तय किया है कि, वो इस संक्रमण काल में भी लॉकडाउन में सारे प्रोटोकॉल को मानते हुए, कम से कम दो गांवों या बस्तियों में जाकर वो सेवा कार्यों में भाग लेंगे। आज जो कोविड वैक्सीन पर हल्ला कर रहे हैं, ये वही लोग हैं, जिन्होंने वैक्सीन पर रिसर्च होने के वक्त भारत के आत्मविश्वास को तोड़ने काम किया। वैक्सीन के ट्रायल पर विपक्षी सवाल उठाते थे, इसे भाजपा की वैक्सीन कहते थे।

जेपी नड्डा के संबोधन की प्रमुख बातें-

  • प्रधानमंत्री जी ने कोरोना के कारण अपने परिजनों को खोने वाले बच्चों के लिए विशेष योजना बनाई है। उन्हें 18 वर्ष के आयु के बाद मासिक भत्ता दिया जाएगा, 23 वर्ष की आयु के बाद 10 लाख रुपये की राशि दी मिलेगी, मुफ्त शिक्षा की व्यवस्था की जाएगी।

  • कुछ लोग साधक होते हैं और कुछ लोग बाधक होते हैं। साधक का काम है साधना करना और हमें पता है कि बाधा पहुंचाने वाले भी हमेशा मिलेंगे, लेकिन हमें अपने रास्ते से डिगना नहीं है।

  • कुछ लोग हमारे ऊपर आरोप प्रत्यारोप लगाते रहेंगे। ये वो लोग हैं जो कभी वैक्सीन पर देश का मोराल तोड़ते थे, जिन्होंने मोहल्ला क्लीनिक, प्रशासन पर बड़ी-बड़ी बात कही थीं, लेकिन जब कोरोना काल आया तो सारा विषय केंद्र सरकार पर छोड़ दिया।

  • इस विपत्ति काल में हमारे बहुत से लोगों को तकलीफ हुई है, वो हम सबकी और सारे समाज की तकलीफ है। लेकिन जिस नीयत और ताकत के साथ पीएम मोदी जी ने इस देश को आगे बढ़ाने और इस संक्रमण से लड़ने का निश्चय किया है, निश्चित रूप से हमें इसमें सफलता मिलेगी।

  • देश का मनोबल तोड़ने वाले वही लोग हैं, जिन्होंने कोरोना को लेकर गैर जिम्मेदाराना बयान दिए। कभी लॉकडाउन पर सवाल खड़े किए, कभी वैक्सीन पर रिसर्च के समय भी कई सवाल उठाए।

इसके अलावा जेपी नड्डा ने दिल्ली के लिए कोविड राहत सामग्री को झंडा दिखाकर रवाना किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co