कमल नाथ सरकार ने मप्र को तालिबानी प्रदेश बना दिया है : शिवराज सिंह
कमल नाथ सरकार ने मप्र को तालिबानी प्रदेश बना दिया है : शिवराज सिंह|Social Media
पॉलिटिक्स

कमल नाथ सरकार ने मप्र को तालिबानी प्रदेश बना दिया है : शिवराज सिंह

मध्य प्रदेश के धार जिले में हुई मॉब लिंचिंग की घटना पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कमल नाथ सरकार पर तीखा प्रहार किया है। जानिए क्या बोले शिवराज...

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। मध्य प्रदेश के धार के मनावर थाना क्षेत्र के ग्राम बोरलाई में हुई मॉब लिंचिंग की घटना के बाद विपक्ष ने कमलनाथ सरकार को घेर लिया है। इस मामले को लेकर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा है। बता दें , इस घटना में एक व्‍यक्ति की मौत हो गई है और छह गंभीर रूप से घायल हैं।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर के जरिए वीडियो जारी करते हुए लिखा है कि,-

कमलनाथ सरकार ने मध्यप्रदेश को तालिबानी प्रदेश बना दिया है। धार में लोगों को पीट-पीटकर मार दिया गया। दलित जिंदा जलाए जा रहे हैं। तालिबानी तरीक़े से हत्याएं हो रही हैं और सरकार #IIFAMP2020 में व्यस्त है। ऐसी घटनाओं को रोकना सरकार की जिम्मेदारी है, कार्रवाई करे। #MP_मांगे_जवाब

बता दें , धार जिले के बोरलई गांव में बुधवार को हुई मॉब लिंचिंग की घटना में पुलिस ने बीजेपी नेता और सरपंच रमेश जूनापानी को हिरासत में लिया है। उन पर भीड़ को उकसाने का आरोप है। जूनापानी को मिलाकर अब तक इस केस में 4 लोगों को पकड़ा जा चुका है। इसके अलावा 5 पुलिसकर्मियों को ड्यूटी में लापरवाही बरतने पर सस्पेंड किया गया है।

इस घटना पर मध्य प्रदेश के जनसम्पर्क मंत्री पीसी शर्मा ने ऐलान किया है कि, घटना की जांच SIT करेगी। मॉब लिंचिंग रोकने के लिए मध्य प्रदेश में कानून लागू किया जाएगा। मध्य प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट भी इंदौर में भर्ती पीड़ितों से मिलने अस्पताल पहुंचे और उनका हाल जाना।

आखिर क्या है मामला जिस में एक व्यक्ति की मौत हो गई, तो 6 लोग घायल हो गए हैं।

मध्य प्रदेश के धार जिले के बोरलई गांव के मजदूर इंदौर उज्जैन क्षेत्र में मजदूरी करते थे। उन्होंने ठेकेदार से एडवांस पैसा ले रखा था, लेकिन काम पर भी नहीं गए। जब पैसे लेने के लिए ठेकेदार लोग गांव पहुंचे तो उन पर हमला कर दिया जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई। दरअसल, इंदौर जिले के श्योपुर खेड़ा के विनोद मुकाती कुछ समय पहले उज्जैन जिले के 5 साथियों के साथ खिड़किया, बोरलई और आसपास के गांवों से मजदूर लेने आए थे। इस दौरान कुछ मजदूरों को 50-50 हजार रुपए एडवांस दिए थे, लेकिन मजदूर बगैर मजदूरी किए अपने गांव आ गए। जब विनोद मुकाती और अन्य लोगों ने पैसे के लिए दबाव बनाया तो मजदूरों ने पैसे देने के लिए अपने गांव बुलाया। जब ये गांव पहुंचे तो उन पर पत्‍थरों से हमला कर दिया गया। विनोद और उनके साथी जान बचाकर भागने लगे तो अफवाह उड़ा दी कि ये बच्चा चोर हैं। इस पर भीड़ इकट्ठा हो गई और इन लोगों से मारपीट करने के अलावा कार को भी आग लगा दी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co