जानिए 2019 की अंतिम मन की बात में क्या बोले प्रधानमंत्री मोदी
जानिए 2019 की अंतिम मन की बात में क्या बोले प्रधानमंत्री मोदी |Social Media
पॉलिटिक्स

जानिए 2019 की अंतिम मन की बात में क्या बोले प्रधानमंत्री मोदी

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2019 में आज आखिरी बार मन की बात कार्यक्रम किया। मन की बात कार्यक्रम की शुरुआत में उन्होंने युवाओं को बधाई दी।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओ को इंगित करते हुए कहा कि हमारी ये पीढ़ी बहुत की प्रतिभाशाली है। भारत के युवा हर दिन कुछ नया करना चाहते हैं। आज के युवा एक बेहतर सिस्टम पंसद करते हैं और अगर कोई सिस्टम सही से काम न करे तो वे बेचैन हो जाते हैं। मैं इसे अच्छा मानता हूं। नई पीढ़ी को अराजकता पसंद नहीं है। अव्यवस्था, अराजकता के प्रति उन्हे चिढ़ है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जातिवाद, परिवारवाद जैसी अव्यवस्था को वो पसंद नहीं करते हैं युवा स्वामी विवेकानंद जी कहते थे कि युवावस्था की कीमत को आंका नहीं जा सकता है। उन्होंने कहा, ' ये जीवन का सबसे मूल्यवान कालखंड होता है। आपका जीवन इस पर निर्भर करता है कि आप अपनी युवावस्था का उपयोग किस प्रकार करते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने युवाओं को संबोधित करते हुए एल्युमिनी कार्यक्रम का जिक्र किया। पीएम ने कहा कि हम अलग-अलग जगह में पढ़ते हैं, लेकिन पढ़ाई पूरी होने के बाद एल्युमिनी मीट बड़ा रोचक कार्यक्रम होता है। यह कार्यक्रम पुराने दोस्तों से मिलने के लिए तो होता ही है और अगर इसके साथ कोई संकल्प जुड़ जाएं तो इसमें रंग भर जाता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात में जम्मू-कश्मीर के हिमायत प्रोग्राम का भी जिक्र किया। देशवासियों से अपील की कि 2022 में देश के लोग स्थानीय सामानों को खरीदने पर जोर दें।पीएम ने कहा कि ये काम सरकारी नहीं होना चाहिए। देश के युवा छोटे-छोटे ग्रुप और संगठन बनाकर लोगों को स्थानीय सामान खरीदने पर जोर दें। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस कार्यक्रम की वजह से 18000 युवाओं को ट्रेनिंग मिली, जबकि 5000 युवाओं को रोजगार भी मिला। पीएम ने कहा कि हिमायत कार्यक्रम स्किल ट्रेनिंग से जुड़ा हुआ है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co