आंदोलनरत किसानों के धैर्य की जीत- कृषि कानून निरस्त के कदम पर नेताओं की प्रतिक्रिया
आंदोलनरत किसानों के धैर्य की जीतSocial Media

आंदोलनरत किसानों के धैर्य की जीत- कृषि कानून निरस्त के कदम पर नेताओं की प्रतिक्रिया

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने के इस कदम के बाद अब राहुल गांधी समेत कई नेताओं की प्रतिक्रिया आई है, जानें किसने क्‍या कहा...

दिल्‍ली, भारत। केंद्र की मोदी सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में देश के अन्‍नदाताओं द्वारा दिल्‍ली की सीमाओं पर आंदाेलन कर आखिरकार किसानों ने कृषि कानूनों को निरस्त कराकर सरकार को झुका ही दिया और जंग जीत ली है। इस बारे में आज ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्‍ट्र को संबोधित कर तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने का ऐलान किया है। मोदी सरकार के इस कदम के बाद अब कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत कई नेताओं की ट्वीट के जरिए प्रतिक्रिया आई है। आइये देखते हैं, किसने क्‍या कहा...

देश के अन्नदाता ने सत्याग्रह से अहंकार का सर झुका दिया :

मोदी सरकार द्वारा काले कानूनों को निरस्त किए जाने कदम उठाए जाने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट साझा किया और लिखा- देश के अन्नदाता ने सत्याग्रह से अहंकार का सर झुका दिया। अन्याय के खिलाफ़ ये जीत मुबारक हो! जय हिंद, जय हिंद का किसान!

CM गहलोत बोले- मोदी सरकार के अहंकार की हार है :

राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा- मैं किसान आंदोलन में शहादत देने वाले सभी किसानों को नमन करता हूं। यह उनके बलिदान की जीत है। तीनों काले कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा लोकतंत्र की जीत एवं मोदी सरकार के अहंकार की हार है। यह पिछले एक साल से आंदोलनरत किसानों के धैर्य की जीत है। देश कभी नहीं भूल सकता कि मोदी सरकार की अदूरदर्शिता एवं अभिमान के कारण सैकड़ों किसानों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर लिखा, ''गुरुनानक जयंती के पवित्र अवसर पर हर पंजाबी की मांगों को मानने और 3 काले कानूनों को निरस्त करने के लिए पीएम मोदी जी का धन्यवाद। मुझे विश्वास है कि, केंद्र सरकार किसानी के विकास के लिए मिलकर काम करती रहेगी।''

काले कानूनों को निरस्त करना सही दिशा में एक कदम :

पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने भी ट्वीट किया और कहा- काले कानूनों को निरस्त करना सही दिशा में एक कदम. किसान मोर्चा के सत्याग्रह को ऐतिहासिक सफलता मिली। आपके बलिदान से यह संभव हुआ है. पंजाब में एक रोड मैप के जरिए खेती को पुनर्जीवित करना पंजाब सरकार के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए।

हरियाणा के गृह मंत्री ने किया ट्वीट :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की गुरु नानक देव जी के प्रकाश उत्सव पर तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा पर सभी किसान संगठनों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का आभार प्रकट करना चाहिए और अपने धरने तुरंत उठाकर अपने अपने घरों को जाकर अपने नियमित कामों में लगना चाहिए।

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज

यूपी में पीएम तीन कृषि कानूनों को वापस लेंगे, स्वागत योग्य कदम, यूपी चुनाव की वजह से आई बुद्धिमता।

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल

श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पुरब की बहुत बहुत बधाई. ऐसे पवित्र दिन पर तीनों कृषि कानून वापिस लेने के लिये देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का धन्यवाद. देशवासियों को भी बधाई किसान और किसान जत्थेबंदियों को खास बधाई।

अकाली दल के प्रवक्ता मनजिंदर सिंह सिरसा

आज किसान और उनके आंदोलन को विजय प्राप्त हुआ हैं। आंदोलन में और भाजपा की तानाशाही से शहीद हुए किसानों को यह विजय श्रद्धांजलि के रूप में अर्पित हैं। भाजपा के नेता अभी तक तीन कृषि क़ानून लागू होने के फ़ायदे गिनाते थे लेकिन आज से तीन कृषि क़ानून वापिस लेने के फ़ायदे गिनाएँगे।

हार्दिक पटेल

'झुकती है दुनिया झुकाने वाला चाहिए' तीनों कृषि कायदे वापस लिए गए, हमारे देश के किसानों को मेरा सलाम और शहीद किसानो को अभिवादन।

एनसीपी नेता नवाब मलिक

भारत के इतिहास में पहली बार किसी आंदोलन की वजह से सरकार क़ानून वापस ले रही है, मैं किसानों को बधाई देता हूं। अगर ये 3 कृषि क़ानून पहले वापस हो जाते तो 700 किसानों की जान बचाई जा सकती थी।

दिल्ली के मुख्यमंंत्री अरविंद केजरीवाल

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co