आज़म के समर्थन में उतरीं मायावती, जेल में बंद रखने को लेकर UP सरकार की निंदा की
आज़म के समर्थन में उतरीं मायावतीSocial Media

आज़म के समर्थन में उतरीं मायावती, जेल में बंद रखने को लेकर UP सरकार की निंदा की

बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) अक्सर अपने बयान और ट्वीट को लेकर चर्चा में बनी रहती हैं। हाल ही में उन्होंने ट्वीट में वरिष्ठ सपा नेता मोहम्मद आज़म खान (Azam Khan) का सपोर्ट किया है।

राज एक्सप्रेस। बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) अक्सर अपने बयान और ट्वीट को लेकर चर्चा में बनी रहती हैं। हाल ही में उन्होंने कई ट्वीट किये है, जिसके चलते वो चर्चाओं में आ गई हैं। उन्होंने अपने ट्वीट में वरिष्ठ सपा नेता मोहम्मद आज़म खान (Azam Khan) का सपोर्ट किया है। इसके साथ ही उन्होंने आज़म खान को सवा दो वर्षों से जेल में बंद रखने को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार की निंदा की है।

मायावती ने किया ट्वीट:

बसपा प्रमुख मायावती ने अपने ट्वीट में लिखा है, "यूपी व अन्य बीजेपी शासित राज्यों में भी, कांग्रेस की ही तरह, जिस प्रकार से टारगेट करके गरीबों, दलितों, अदिवासियों एवं मुस्लिमों को जुल्म-ज्यादती व भय आदि का शिकार बनाकर उन्हें परेशान किया जा रहा है यह अति-दुःखद, जबकि दूसरों के मामलों में इनकी कृपादृष्टि जारी है।"

मायावती ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है, "इसी क्रम में यूपी सरकार द्वारा अपने विरोधियों पर लगातार द्वेषपूर्ण व आतंकित कार्यवाही तथा वरिष्ठ विधायक मोहम्म्द आज़म खान को करीब सवा दो वर्षों से जेल में बन्द रखने का मामला काफी चर्चाओं में है, जो लोगों की नज़र में न्याय का गला घोंटना नहीं तो और क्या है?"

उन्होंने अपने तीसरे ट्वीट में लिखा है, "साथ ही, देश के कई राज्यों में जिस प्रकार से दुर्भावना व द्वेषपूर्ण रवैया अपनाकर प्रवासियों व मेहनतकश समाज के लोगों को अतिक्रमण के नाम पर भय व आतंक का शिकार बनाकर, उनकी रोजी-रोटी छीनी जा रही है, वह अनेकों सवाल खड़े करता है, जो अति-चिन्तनीय भी है।"

बता दें कि, इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने सोमवार को समाजवादी पार्टी के विधायक मोहम्मद आज़म खान को 26 महीने की अवधि के बाद मंगलवार को जमानत दे दी है। इसके बाद, उनके खिलाफ एक और केस दर्ज कर दिया गया। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने भी उत्तर प्रदेश सरकार से सवाल पूछा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.