कृषि मंत्री का राहुल को जवाब- मोती लाल नेहरू का नाम देखकर टिप्पणी करें
कृषि मंत्री का राहुल को जवाब- मोती लाल नेहरू का नाम देखकर टिप्पणी करेPriyanka Sahu -RE

कृषि मंत्री का राहुल को जवाब- मोती लाल नेहरू का नाम देखकर टिप्पणी करें

कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा M अक्षर से शुरू होने वाले नाम को लेकर सवाल पूछे जाने को लेकर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा-अगर 'एम' से शुरू करें तो मोती लाल नेहरू का भी नाम आता है...

दिल्‍ली, भारत। देश के राजनीति में कब किस मुद्दे को लेकर कांग्रेस नेता व पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी क्‍या कह दें इस बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है। आज सुबह ही राहुल गांधी को म्यांमार में तख्तापलट को लेकर सवाल पूछना भारी पड़ गया और अब उनके द्वारा किए गए सवालों के बाद वे खुद ही सवालों के घेर में आ गए।

राहुल के बयान को कांग्रेस भी गंभीरता से नहीं लेती :

राहुल गांधी के ट्वीट पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की भी प्रतिक्रिया आई है। इस दौरान उन्‍होंने दो टूक जवाब देते हुए कहा कि, ''राहुल गांधी के बयान को कांग्रेस भी गंभीरता से नहीं लेती। अगर 'एम' से शुरू करें तो मोती लाल नेहरू का भी नाम आता है, इसलिए उन्हें देखकर टिप्पणी करनी चाहिए।''

आखिर ऐसा क्‍या था राहुल गांधी का सवाल :

दरअसल, आज बुधवार सुबह राहुल गांधी ने ट्वीट कर ये लिखा था कि, 'आखिर तानाशाहों का नाम अंग्रेजी के एक 'M' (हिंदी में 'म') अक्षर से ही शुरू क्यों होता हैं? साथ ही उन्‍होंने अपने इस ट्वीट में मार्कोस, मुसोलिनी, मिलोसेविक, मुबारक, मोबुतू, मुशर्रफ, माइकोमबेरो आदि तानाशाहों के नाम भी गिनाए।

इसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने भी राहुल गांधी को उनके ही सवाल पर आड़े हाथों ले लिया। सोशल मीडिया पर राहुल गांधी के इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए उनसे पूछा जाने लगा कि, 'एम' नाम के सभी तानाशाह तो मोहनदास करमचंद गांधी, मोती लाल नेहरू और मनमनोहन सिंह कौन?

आखिर किन देश के तनाशाहों का राहुल ने किया जिक्र :

बता दें कि, मार्कोस का पूरा नाम फर्डिनेंड इमैनुएल एड्रैलिन मार्कोस था, जो फिलिपींस के पूर्व राष्ट्रपति रहे। वहीं, बेनितो मुसोलिनी इटली और स्लोबोदान मिलोशेविच सर्बिया का राजनेता था। इसके अलावा होस्नी मुबारक मिस्र, कर्नल जॉसेफ मोबुतु कॉन्गो, जनरल परवेज मुशर्रफ पाकिस्तान और माइकल माइकल माइकॉम्बेरो बुरुंडी में तानाशाही शासन किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co