Nirmala Sitharaman
Nirmala Sitharaman|Social Media
पॉलिटिक्स

प्याज पर वित्तमंत्री की बात से संसद में ठहाके, क्‍या बोलीं सीतारमण

प्याज के बढ़ते दाम से जनता परेशान हैं, इस मामले पर भी राजनीतिक दल मोदी सरकार पर सवाल उठाने लगे हैं। इसी बीच संसद में राकांपा सांसद ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से पूछा-क्या वे प्याज खाती हैं?

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्सप्रेस। देश में प्याज के भाव आसमान छू रहे हैं और प्याज की बढ़ती कीमतों ने हर किसी को रुला दिया है, दिन-प्रतिदिन प्याज के बढ़ते दाम से जनता परेशान है, इतना ही नहीं राजनीतिक दल इन बढ़ती किमतों को लेकर मोदी सरकार पर सवाल उठा रहे हैं। इसी बीच जब लोकसभा में बुधवार को प्याज के मुद्दे पर बहस छिड़ी, तो इस दौरान राकांपा सांसद सुप्रिया सुले ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) से पूछा था कि, क्या वे प्याज खाती हैं?

इस पर सीतारमण ने दिया यह जवाब :

मैं बहुत ज्यादा प्याज-लहसुन नहीं खाती... इसलिये चिंता न करें, मैं ऐसे परिवार से आती हूं, जहां प्याज-लहुसन का ज्यादा मतलब नहीं है। मैं भी इनका ज्यादा इस्तेमाल नहीं करती। मेरा परिवार शुद्ध-शाकाहारी है, फिर भी प्याज की बढ़ती कीमतों का मसला देखूंगी।
निर्मला सीतारमण

सीतारमण की बात पर संसद में ठहाके :

मजाकिया अंदाज में निर्मला सीतारमण द्वारा कहीं गई इस बात से संसद मेें हंसी के ठहाके लग गए।

एनसीपी सांसद ने उठाया किसानों का मुद्दा :

दरसअल, लोकसभा में प्याज के किसानों का मुद्दा संसद में पहले एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने ही उठाया, उन्‍होंने कहा-

मैं सरकार से प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर एक सवाल करना चाहती हूं, सरकार मिस्र से प्याज मंगवा रही है, जो प्याज की कीमत कम करने के लिए जरूरी भी है। मैं सरकार के इस कदम की सराहना भी करती हूं, लेकिन मैं सरकार से पूछना चाहती हूं कि, आखिर प्याज का उत्पादन गिर क्यों गया? मैं महाराष्ट्र से आती हूं, जहां बड़े पैमाने पर प्याज की पैदावार की जाती है, यहां के छोटे किसान जो प्याज का उत्पादन करते हैं, उन्हें बचाने की जरूरत है।
एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले

सुप्रिया सुले के इस सवाल के बाद ही निर्मला सीतारमण जवाब देने के लिए खड़ी हुईं थीं, तभी उनसे प्याज खाने की बात भी पूछ ली गई। वहीं इस दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्याज किसानों के लिए सरकार की नीतियों के बारे में भी यह बात बताई-

मैं 2014 से कुछ ऐसे मंत्रियों के ग्रुप का भी हिस्सा रही हूं, जो प्याज के बाजार में उतार-चढ़ाव पर नजर रखते हैं। कई बार प्याज का उत्पादन कम होता है। तब हमने उन लोगों को भी सहायता दी है, जो प्याज का आयात करना चाहते हैं। हमने निर्यातकों के लिए भी रातों-रात 5 से 7% तक की सहायता के आदेश को मंजूरी दी है।
निर्मला सीतारमण

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co