रोहिंग्या मुद्दे पर जुबानी जंग तेज- ओवैसी ने शाह को दिया ये खुला चैलेंज
रोहिंग्या मुद्दे पर जुबानी जंग तेज- ओवैसी ने शाह को दिया ये खुला चैलेंज Priyanka Sahu -RE

रोहिंग्या मुद्दे पर जुबानी जंग तेज- ओवैसी ने शाह को दिया ये खुला चैलेंज

हैदराबाद निकाय चुनाव में रोहिंग्या मुसलमानों का मुद्दा जोर पकड़ रहा है। तो वहीं, असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- यदि इलेक्टोरल लिस्ट में 30 हजार रोहिंग्या हैं तो गृहमंत्री अमित शाह क्या कर रहे हैं...

नई दिल्ली। देश में किसी न किसी मुद्दे पर राजनीति तेज हो जाती है, तो वहीं अब हैदराबाद निकाय चुनाव में रोहिंग्या मतदाताओं का मुद्दा जोर पकड़ रहा है। रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दे को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) और भाजपा के बीच जुबानी जंग तेज है।

ओवैसी का अमित शाह पर वार :

दरअसल, AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने हैदराबाद में एक जनसभा को संबोधन के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को खुला चैलेंज देते हुए जोरदार वार किया है। उन्‍होंने पूछा है कि, ''यदि इलेक्टोरल लिस्ट (मतदाता सूची) में 30 हजार रोहिंग्या हैं, तो गृहमंत्री अमित शाह क्या कर रहे हैं। क्या वह सो रहे हैं? क्या यह देखना उनका काम नहीं है कि, 30 से 40 हजार रोहिंग्या का नाम कैसे शामिल हो गया। यदि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) वाकई ईमानदार है तो उसे मंगलवार शाम तक ऐसे 1000 नाम दिखाने चाहिए।''

उनका मकसद नफरत फैलाना है। यह जंग हैदराबाद और भाग्यनगर के बीच है। अब यह तय करने की जिम्मेदारी आपकी है कि कौन जीतेगा।

AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी

बता दें, बिहार विधानसभा चुनाव के बाद अब दक्षिण के राज्यों में हैदराबाद नगर निगम चुनाव के लिए प्रचार चल रहा है और हैदराबाद निकाय चुनाव की तारीख नजदीक आते ही रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दे पर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी और बीजेपी की जुबानी जंग तेज हो गई है।

ओवैसी और बीजेपी में जुबानी जंग तेज क्‍यों ?

दरअसल, बात ये है कि, इस मामले पर बीजेपी के यूथ विंग के अध्यक्ष और सांसद तेजस्वी सूर्या ने आरोप लगाया था कि, ''ओवैसी केवल विकास की बात करते हैं, लेकिन वो हैदराबाद मे केवल रोहिंग्या मुसलमानों को आने की इजाजत देते हैं। असदुद्दीन ओवैसी, मोहम्मद अली जिन्ना के अवतार हैं, उन्हें वोट देने का मतलब भारत के खिलाफ वोट देना है।'' इतना ही नहीं हैदराबाद में प्रचार कर रहे तेजस्वी सूर्या ने ये भी कहा कि, ''ये सिर्फ एक निगम चुनाव नहीं है, अगर आप यहां ओवैसी को वोट देते हैं तो वो महाराष्ट्र, कर्नाटक, बिहार, यूपी जैसे राज्यों में मजबूत होते हैं।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co