श्रीलंका जैसे ही भारत में भी लोग एक दिन प्रधानमंत्री आवास में घुसकर बैठेंगे: ओवैसी

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी श्रीलंका देश में जैसे हालत देखे गए उसी का उदाहरण देते हुए कहा है कि, भारत में भी लोग एक दिन प्रधानमंत्री आवास में घुसकर बैठेंगे।
भारत में भी लोग एक दिन प्रधानमंत्री आवास में घुसकर बैठेंगे: ओवैसी
भारत में भी लोग एक दिन प्रधानमंत्री आवास में घुसकर बैठेंगे: ओवैसीSocial Media

दिल्‍ली, भारत। भारत में भी लोग महंगाई की परेशानी से परेशान है, ऐसे में एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी श्रीलंका देश में जैसे हालत देखे गए उसी का उदाहरण देते हुए कहा है कि, श्रीलंका में लोग राष्ट्रपति निवास में घुस गए थे, वैसे ही भारत में भी लोग एक दिन प्रधानमंत्री आवास में घुसकर बैठेंगे।

इसलिए हुई श्रीलंका की ये स्थिति :

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- जिस तरह से श्रीलंका में लोग राष्ट्रपति निवास में घुस गए थे, वैसे ही भारत में भी लोग एक दिन प्रधानमंत्री आवास में घुसकर बैठेंगे। श्रीलंका की ये स्थिति इसलिए हुई क्योंकि वहां की सरकार ने बेरोजगारी, महंगाई के मुद्दे का समाधान नहीं किया। भारत में भी लोग अब सड़क पर उतरने लगे हैं। अग्निवीर योजना के विरोध से लेकर किसान आंदोलन तक, लोगों का नेताओं पर भरोसा कम हो रहा है।

अग्निवीर जैसे मुद्दों पर जनता सड़क पर उतरी है :

राजस्थान के जयपुर में 'टॉक जर्नलिज्म' में बोलते हुए ओवैसी ने कहा, 'सीएए, किसान बिल, अग्निवीर जैसे मुद्दों पर जनता सड़क पर उतरी है। देखना एक दिन जैसे श्रीलंका में लोग राष्ट्रपति भवन में घुसकर बैठे थे, वैसे ही यहां PM हाउस में घुसकर बैठेंगे और कहेंगे कि नौकरी नहीं दी हमको। मैं ऐसा चाहता नहीं हूं, नहीं तो कल UAPA लग जाएगा मुझ पर।' इस दौरान ओवैसी ने इस सवाल का जवाब भी नहीं दिया कि क्या देश में पीएफआई पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए।

ओवैसी ने यह भी आरोप लगाया कि पिछले कुछ वर्षों से कार्यपालिका संसद में विधायकों को कमजोर करने का प्रयास कर रही है, जिससे बहस की गुंजाइश कम हो गई है। ओवैसी ने कहा, 'संसद के मॉनसून सत्र में 14 विधेयक पेश हुए और चंद मिनटों में पास भी हो गये। संसद में एक साल में सिर्फ 60-65 दिन ही बैठक होती है ऐसे में कैसे हम जनता के मुद्दों को उठाएंगे।' उदयपुर की घटना के सवाल पर ओवैसी ने कहा, 'हमने घटना की निंदा की है और हमारा मानना है कि जब कन्हैयालाल ने पुलिस को शिकायत दी थी तब पुलिस को कार्रवाई करनी चाहिए थी। अगर उस वक्त कार्रवाई की गई होती यह घटना नहीं होती।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co