पी चिदंबरम ने PM मोदी के 7 साल पुराने 2013 के ट्वीट को रिट्वीट कर कसा तंंज
पी चिदंबरम ने PM मोदी के 7 साल पुराने 2013 के ट्वीट को रिट्वीट कर कसा तंंज|Syed Dabeer Hussain - RE
पॉलिटिक्स

पी चिदंबरम ने PM मोदी के 7 साल पुराने 2013 के ट्वीट को रिट्वीट कर कसा तंंज

भारत के पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम आज PM मोदी के 7 साल पुराने ट्वीट को रिट्वीट कर कहा-मैं भी यही कहना चाहता हूं प्रधानमंत्री जी, जानें ऐसा क्‍या लिखा था PM ने अपने इस ट्वीट में...

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

दिल्ली, भारत। भारत के पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने आज बुधवार को कुछ अलग तरीके से अर्थव्यवस्था के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार को आड़े हाथ लिया और अपनी प्रतिक्रिया दी। दरअसल, पी. चिदंबरम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कई सालों पुरानेे एक ट्वीट को शेयर कर ये बात कही है।

पी. चिदंबरम ने ट्ववीट में लिखा :

कांग्रेस नेता और पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 7 साल पुराने 2013 के एक ट्वीट पर रिट्वीट करते हुए तंज कसते हुए अपने इस ट्वीट में लिखा- आदरणीय प्रधानमंत्री जी, मैं भी आपसे यही बात कहना चाहता हूं। दरअसल, 30 नवंबर, 2013 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने इस ट्वीट में तत्कालीन मनमोहन सरकार में वित्त मंत्री पी चिदंबरम को लेकर कहाा था, "भारत की अर्थव्यवस्था मुश्किल में है, युवा को नौकरी चाहिए, अर्थव्यवस्था ठीक करने में ज्यादा समय दें, न कि राजनीति करें। चिदंबरम जी, प्लीज नौकरी देने में फोकस करिए।"

गौरतलब है कि, जिस वक्‍त PM मोदी ने पी चिदंबरम को राजनीति छोड़कर अर्थव्यवस्था पर ध्यान देने की सलाह दी थी, उस वक्‍त यानी वर्ष 2013 में नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे और पी चिदंबरम केंद्र सरकार में वित्त मंत्री थे। गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए नरेंद्र मोदी ने ट्वीट के जरिए ये बात कही गई थी। तब पी. चिदंबरम देश के वित्त मंत्री थे और अब नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं।

पीएम केअर्स फंड पर बोले चिदंबरम :

इसके अलावा पी. चिदंबरम ने आज बुधवार को एक ओर ट्वीट किया, जिसमें उन्‍होंने 'पीएम केअर्स फंड' पर सवाल खड़े करते हुए लिखा- PM CARES FUND के ऑडिटर्स ने पुष्टि की है कि 26 से 31 मार्च, 2020 के बीच केवल 5 दिनों में फंड को 3076 करोड़ रुपये मिले, लेकिन इन दयालु दाताओं के नाम प्रकट नहीं किए जाएंगे, क्यों? प्रत्येक अन्य एनजीओ या ट्रस्ट एक सीमा से अधिक राशि दान करने वाले दानकर्ताओं के नाम प्रकट करने के लिए बाध्य है। इस दायित्व से PM CARES FUND को छूट क्यों है? दान पाने वाला ज्ञात हैं, दान पाने वाले के ट्रस्टी ज्ञात हैं, तो ट्रस्टी, दानदाताओं के नाम उजागर करने से क्यों डर रहे हैं?

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co