जनमत का अपमान करने वाली भाजपा को जनता सिखायेगी सबक : अखिलेश
जनमत का अपमान करने वाली भाजपा को जनता सिखायेगी सबक : अखिलेशSocial Media

जनमत का अपमान करने वाली भाजपा को जनता सिखायेगी सबक : अखिलेश

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में गुंडागर्दी के बल पर जनमत का अपमान करने वाले भाजपा को उत्तर प्रदेश की जनता विधानसभा चुनाव में सबक सिखाने को बेकरार है।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में गुंडागर्दी के बल पर जनमत का अपमान करने वाले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को उत्तर प्रदेश की जनता विधानसभा चुनाव में सबक सिखाने को बेकरार है। श्री यादव ने पार्टी कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में रविवार को कहा कि पुलिस और जिला प्रशासन के दम पर चुनाव जीतने के लिये भाजपा सरकार ने लोकतंत्र की मर्यादा का भी मान नहीं रखा। सपा प्रत्याशियों के नामांकन पत्र फाड़ दिये गये। भाजपा के नेताओं,कार्यकर्ताओं और पुलिस अधिकारियों ने उनकी पिटाई की। यहां तक कि पत्रकारों को भी नहीं बख्शा गया। भाजपा विधायक की मौजूदगी में पुलिस अधिकारी को सरेआम तमाचा मार कर बेइज्जत किया गया।

उन्होंने कहा कि इन चुनावों में सपा की हार नहीं हुयी है बल्कि जनमत का अपमान हुआ है और जनता के आगे भाजपा कुछ भी नहीं है। यही जनता भाजपा की तानाशाह सरकार को अगले विधानसभा चुनाव में सबक सिखायेगी। सपा अध्यक्ष ने कहा कि जनता के चुनाव में प्रधान, बीडीसी, जिला पंचायत सदस्य सबसे ज्यादा सपा के प्रत्याशी जीते लेकिन उन्हे मताधिकार से वंचित किया गया। पुलिस अधिकारी नामांकन पत्र फाड़ने में ही व्यस्त रहे। हमारे कार्यकर्ताओं के हाथ पांव तोड़े गए। उन्हें फर्जी मुकदमे लगा कर जेल भेजा गया। यहां तक कि महिला प्रत्याशियों का सरेआम अपमान किया गया। उनके कपड़े फाड़े गये। लोकतंत्र में ऐसा नंगा नाच आज तक कभी नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाने के बाद भाजपा के बड़े नेता और यहां तक मुख्यमंत्री एक दूसरे को लड्डू खिलाकर बधाई दे रहे हैं। चुनाव सकुशल सम्पन्न कराने का दावा कर कर्मचारियों और कार्यकर्ताओं को बधाई दे रहे हैं। वास्तव में उन्हें बधाई जिलाधिकारियों और पुलिस प्रमुखों को देनी चाहिये जिनके दम पर भाजपा यह चुनाव जीती है।

श्री यादव ने कहा कि उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में कभी गुंडा शब्द का इस्तेमाल नहीं किया मगर जिस तरह जनमत का मजाक उड़ाया गया, उससे क्षुब्ध होकर वह इस शब्द का प्रयोग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने अपने गृहनगर गोरखपुर में गुंडई का प्रयोग किया जिसके बाद पूरे प्रदेश में गुंडागर्दी चरम पर रही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co