Atal Bhujal Yojana
Atal Bhujal Yojana|Social Media
पॉलिटिक्स

PM मोदी ने 'अटल जी' के नाम पर 2 योजनाओं का किया शुभारंभ

केंद्र की मोदी सरकार ने आज अटज जी की वर्षगांठ के मौके पर उनके नाम से 2 योजनाएं पहली योजना अटल भूजल तथा दूसरी योजना अटल टनल लांच की हैं। आइये जानते हैैं, इन योजनाओं से क्‍या फायदा होगा...

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

हाइलाइट्स :

  • मोदी सरकार ने आज 2 नई योजनाएं की लांच

  • दिल्ली के विज्ञान भवन में 'अटल भूजल योजना' का शुभारंभ

  • दूसरी योजना है 'अटल टनल'

  • इस योजना से 7 राज्यों के 8350 गांवों को मिलेगा लाभ

राज एक्‍सप्रेस। भारत देश में राजनीति के शिखर पुरूषों में शुमार अटल बिहारी वाजपेयी जी के जन्‍मदिन के इस अवसर पर केंद्र की मोदी सरकार द्वारा उनके नाम पर आज अर्थात 25 दिसंबर को दो महत्वपूर्ण योजनाओं का शुभारंभ किया है, इन दोनों योजनाओं का नाम यह है-

  • पहली योजना अटल भूजल (Atal Bhujal Yojna)

  • दूसरी योजना अटल टनल (Atal Tunnel)

PM नरेंद्र मोदी ने इन दोनों परियोजना का नाम 'अटल जी' को समर्पित किया गया है।

अटल भूजल योजना से इन 6 राज्‍यों को होगा लाभ :

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 6000 करोड़ रुपये की लागत वाली 'अटल भूजल योजना' का शुभारंभ किया। हालांकि, 6000 करोड़ रुपये में से 3000 करोड़ रुपये वर्ल्ड बैंक तथा 3000 करोड़ रुपये सरकार द्वारा खर्च होंगे और इस योजना का लाभ 7 राज्यों उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, राजस्थान और महाराष्ट्र' के 8350 गांवों को लाभ होगा।

विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान PM मोदी ने अपने विचार व्‍यक्‍त करते हुए कहा- आज भारत के दो रत्नों अटल बिहारी वाजपेयी, मदन मोहन मालवीय का जन्मदिन है। इस दौरान उन्‍होंने पानी बचाने के लिए मंत्र देते हुए कहा कि, किसान, युवा, स्टार्टअप करने वाले पानी बचाने के लिए कई कदम उठा सकते हैं।

पानी का संकट विकास को भी प्रभावित करता है। यह घर, खेत और उद्योग को भी प्रभावित करता है। पानी का विषय अटल जी के लिए बहुत महत्वपूर्ण था, उनके हृदय के बहुत करीब था। अटल जल योजना हो या फिर जल जीवन मिशन से जुड़ी गाइडलाइंस, ये 2024 तक देश के हर घर तक जल पहुंचाने के संकल्प को सिद्ध करने में एक बड़ा कदम है।
PM नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री द्वारा यह बात भी कहीं गई है कि, ''जो ग्रामीण आज यहां आए हैं और जो टेक्नोलॉजी के माध्यम से हमसे जुड़े हैं, उनको बताना चाहता हूं अटल जल योजना में सबसे बड़ी जिम्मेदारी हम सब नागरिकों, किसानों की है। हम सब मिलकर जितना अच्छा काम करेंगे उससे गांव का भला तो होगा ही साथ ही ग्राम पंचायतों का भी भला होगा।''

यह विश्व का सबसे ऊंचा टनल होगा :

अटल जी की वर्षगांठ के मौके लांच होने वाली दूसरी योजना के तहत मनाली को लेह से जोड़ने वाली सुरंग को आज से 'अटल-टनल' के नाम से जाना जाएगा, हालांकि इस योजना के लिए वर्ष 2005 में ही 4000 करोड़ रुपये मंजूर कर दिए गए थे। कुल 8.8 किलोमीटर लंबी 'अटल-टनल' योजना का लगभग 80% कार्य पूर्ण हो गया है। साथ ही यह दावे किए जा रहे है कि, यह दुनिया की सबसे ऊंची टनल होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co