PM मोदी का शशि थरूर पर तंज आप तो कश्मीर के दामाद रहे हो
PM मोदी का शशि थरूर पर तंज आप तो कश्मीर के दामाद रहे हो|Social Media
पॉलिटिक्स

PM मोदी का शशि थरूर पर तंज आप तो कश्मीर के दामाद रहे हो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का उत्तर देते हुए जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने का भी जिक्र किया।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कुछ लोग कहते थे कि जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद आग लग जाएगी। बवाल हो जाएगा, कितने बड़े भविष्यवक्ता थे वे। हालांकि, ऐसा कुछ नहीं हुआ है। पीएम मोदी ने कहा कि अनुच्‍छेद 370 हटने से पहले कश्मीर की पहचान बम, बंदूक और आतंकवाद बना कर रख दी गई थी। सन 1990 में ही कश्मीर की पहचान को दफना दिया गया था। जब वहां से अपना घर और व्‍यापार को छोड़कर कश्मीरी पंडितों को भागना पड़ा था।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि, सन 1990 में ही कश्मीर की पहचान को दफना दिया गया था। जब वहां से अपना घर और व्‍यापार को छोड़कर कश्मीरी पंडितों को भागना पड़ा था। पीएम ने कहा कि कश्मीर की पहचान एक समय पर सूफीवाद थी, लेकिन धीरे-धीरे ये छवि धूमिल हो गई। इस दौरान शशि थरूर पर कटाक्ष करते हुए मोदी ने कहा कि आप तो कश्मीर के दामाद रहे हो, आपको तो वहां की बेटियों के बारे में सोचना चाहिए था?

CAA पर बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में पूछा कि क्या पंडित नेहरू कम्युनल थे? कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, देश के किसी नागरिक को कानून से खतरा नहीं है। कांग्रेस अल्पसंख्यकों के नाम पर राजनीतिक रोटी सेंकती है। इसके साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के पुराने बयान सुनाकर पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला किया।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा,

5 नवंबर 1950 को इसी संसद में नेहरू जी ने कहा था कि इसमें कोई संदेह नहीं हैं कि जो प्रभावित लोग भारत में बसने के लिए आये हैं, ये नागरिकता मिलने के अधिकारी हैं और अगर इसके लिए कानून अनुकूल नहीं है तो कानून में बदलाव किया जाना चाहिए। 1950 में नेहरू-लियाकत समझौता हुआ, जो भारत-पाकिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यकों के संरक्षण के लिए हुआ। इस समझौते में धार्मिक अल्पसंख्यकों का जिक्र हुआ था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co