मुंबई: अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर सियासत में भूचाल-निशाने पर कांग्रेस

मुंबई में रिपब्लिक TV के एडिटर-इन-चीफ अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी को लेकर भाजपा के कई वरिष्‍ठ नेताओं ने इमरजेंसी की घटना से जोड़ते हुए इसका विरोध कर कहा- इमरजेंसी जैसे हालात फिर बना दिए...
मुंबई: अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर सियासत में भूचाल-निशाने पर कांग्रेस
मुंबई: अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर सियासत में भूचाल-निशाने पर कांग्रेसPriyanka Sahu -RE

मुंबई: मुंबई स्थित न्यूज चैनल रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्णब गोस्वामी के अलावा अन्य 2 लोगों को 53 वर्षीय इंटीरियर डिजाइनर को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया है, इसी मामलेे को लेकर देश की सियासत गरमा गई है।

शाह का कांग्रेस पर हमला :

मुंबई पुलिस द्वारा की गई अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने आलोचना करते हुए इस घटना को लेकर कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है। अमित शाह ने इस घटना को इंदिरा गांधी के जमाने में लगाई गई इमरजेंसी की घटना से जोड़ते हुए इसका विरोध किया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा-

कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने एक बार फिर लोकतंत्र को शर्मसार कर दिया है, रिपब्लिक टीवी और अर्णब गोस्वामी के खिलाफ राज्य की शक्तियों का प्रयोग व्यक्तिगत स्वतंत्रता और लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला है। इससे हमें इमरजेंसी के दिनों की याद आती है, आजाद प्रेस पर इस हमले का विरोध होना चाहिए और होगा।

गृहमंत्री अमित शाह

जावड़ेकर ने गोस्वामी की गिरफ्तारी का किया विरोध :

इस घटना को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी विरोध करते हुए ट्वीट कर कहा कि, ''मुंबई में प्रेस-पत्रकारिता पर जो हमला हुआ है वह निंदनीय है। यह इमरजेंसी की तरह ही महाराष्ट्र सरकार की कार्यवाही है। हम इसकी भर्त्सना करते हैं।'' अगले ट्वीट में लिखा- सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में काम कर रही कांंग्रेस अभी भी आपातकालीन मनःस्तिथि में है। इसी का सबूत आज महाराष्ट्र में उनकी सरकार ने दिखाया है। लोग ही इसका लोकतांत्रिक जवाब देंगे।

यद्यपि आपातकाल को 1977 में पराजित किया गया था, लेकिन मानसिकता अभी भी जीवित है! आज, आपातकाल-कांग्रेस और शिवसेना के समर्थकों ने असंतोष की किसी भी आवाज को कुचलने के लिए एक ही अलोकतांत्रिक क्रूरता का प्रदर्शन किया है। भारत ने हमेशा ऐसी ताकतों से लड़ाई लड़ी है और संघर्ष जारी रहेगा।

देवेंद्र फडणवीस, महाराष्‍ट्र के पूर्व CM

अर्नब की गिरफ्तारी पर बोले CM शिवराज:

मध्यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इस घटना की निंदा करते हुए एक के बाद एक कई ट्वीट साझा कर कहा- इमरजेंसी के समय कांग्रेस ने किस प्रकार पत्रकार और पत्रकारिता को कुचला था ये किसी से छुपा नहीं है। आज कांग्रेस के शह पर महाराष्ट्र सरकार ने इमरजेंसी जैसे हालात फिर बना दिये है। महाराष्ट्र सरकार द्वारा लोकतंत्र विरोधी, पत्रकारिता विरोधी इस कृत्य की मैं घोर निंदा करता हूँ।

महाराष्ट्र सरकार के इस लोकतंत्र विरोधी कदम के पीछे पूरी तरह से कांग्रेस है। कांग्रेस ने पहले भी लोकतांत्रिक परंपराओं का तार तार किया है। महाराष्ट्र में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कुचला गया है, प्रेस की आजादी छीन ली गई है । महाराष्ट्र में इमरजेंसी से बदतर हालात हैं। जिन्होंने लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास किया अंततः वे स्वयं समाप्त हो गए हैं।

MP के CM शिवराज सिंह चौहान

गिरफ्तारी पर मुंबई पुलिस ने बताया :

बता दें कि, अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी के बाद मुंबई पुलिस ने बताया कि, ''रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी को इंटीरियर डिजाइनर को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है।''

जानकारी के अनुसार, मुंबई पुलिस ने वर्ष 2018 से जुड़े एक केस के सिलसिले में अर्णब के खिलाफ कार्रवाई की है। मुंबई पुलिस बुधवार की सुबह-सुबह रिपब्लिक TV के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी के घर पहुंची और फिर उन्हें गिरफ्तार किया और उन्हें अपने साथ अलीबाग ले गई है। वहीं, एडिटर इन चीफ अर्णब ने पुलिस पर अपने और परिवार के साथ मारपीट का आरोप लगाया। तो वहीं, पुलिस और अर्नब के बीच झड़प के कुछ वीडियो भी वायरल हो रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co