Raj Express
www.rajexpress.co
Prakash Javadekar Delhi Pollution
Prakash Javadekar Delhi Pollution |Priyanka Sahu -RE
पॉलिटिक्स

विज्ञापन पर खर्च किए पैसे किसानों को देतेे, तो प्रदूषण कम होता

दिल्‍ली की हवा में घुले जहर से लोगों को मुक्ति दिलाने व प्रदूषण कम करने के लिए 'ऑड-ईवन' लागू हो गया, लेकिन क्या ऑड ईवन लोगों को शुद्ध हवा लौटा देगा? वहीं इस मामले पर राजनीति गर्मा गई है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। उत्तर भारत में इन दिनों प्रदूषण एक अहम मुद्दा बना हुआ है, यहां एक तरफ अरविंद केजरीवाल सरकार ने राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली की हवा में घुले जहर से लोगों को मुक्ति दिलाने के लिए पुराने फॉर्मूले ऑड-ईवन को लागू किया है, तो वहीं दूसरी ओर इस मामले पर दिल्ली की हालत ऐसे क्यों? इस पर बहस छिड़ गई है, राजनीति में कई नेता एक-दूसरे पर हमला बोल (Prakash Javadekar Delhi Pollution) रहे हैं।

जावड़ेकर ने कहीं सेल्फ रेगुलेशन की बात :

दिल्‍ली के बढ़ते प्रदूषण स्‍तर को कोई पराली, तो कोई लापरवाही को जिम्मेदार ठहरा रहा है, लेकिन देश के पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सेल्फ रेगुलेशन की बात कही है, ''मतलब धुएं से बचना है तो धुएं को कम करना होगा।''

प्रकाश जावड़ेकर का केजरीवाल पर हमला :

प्रदूषण के इस मुद्दे पर केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज सोमवार को दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार पर बड़ा हमला बोला-

क्‍या बोले जावड़ेकर-

केन्द्र सरकार ने किसानों की मदद के लिए 1100 करोड़ दिए हैं, दिल्ली सरकार प्रदूषण कम करने के लिए किसानों को 1500 करोड़ क्यों नहीं देती, जो विज्ञापन पर खर्च किए हैं।
केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर