2024 के चुनाव के बाद कुर्सी से हटाए जाने के डर से नीतीश ने भाजपा का साथ छोड़ा : प्रशांत किशोर

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव बाद कुर्सी से हटाए जाने के डर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भारतीय जनता पार्टी का साथ छोड़ा है।
2024 के चुनाव के बाद कुर्सी से हटाए जाने के डर से नीतीश ने भाजपा का साथ छोड़ा : प्रशांत किशोर
2024 के चुनाव के बाद कुर्सी से हटाए जाने के डर से नीतीश ने भाजपा का साथ छोड़ा : प्रशांत किशोरSocial Media

गोपालगंज। चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव के बाद कुर्सी से हटाए जाने के डर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का साथ छोड़ा है। श्री किशोर ने जन सुराज पदयात्रा के दौरान श्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि श्री कुमार मार्च 2022 में उनसे दिल्ली में मिले थे और उनसे उनकी लंबी बातचीत हुई थी। उन्होंने कहा कि श्री नीतीश कुमार महागठबंधन में इसलिए शामिल हुए हैं कि उन्हें कहीं न कहीं डर और विश्वास दोनों था कि 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा जीत कर आएगी।

चुनावी रणनीतिकार ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार को यह डर सता रहा था कि भाजपा जीत कर आयेगी तो दिल्ली में शपथ के बाद सबसे पहले बिहार के मुख्यमंत्री को बदलेगी क्योंकि इसके बाद अगले वर्ष ही बिहार में होने वाला विधानसभा चुनाव भाजपा श्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में नहीं लड़ती। इसी डर के कारण श्री नीतीश कुमार महागठबंधन के साथ चले गए।

श्री किशोर ने कहा कि श्री नीतीश कुमार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) से कोई प्रेम नहीं है और ये भी नहीं है कि राजद श्री नीतीश कुमार को जानती नहीं है। उन्होंने कहा कि जहां तक भाजपा का सवाल है तो श्री नीतीश कुमार हर मायने में दिल्ली में भाजपा के साथ है। श्री नीतीश कुमार का भाजपा में जाने का रास्ता खुला रहे इस कारण से श्री कुमार ने श्री हरिवंश को राज्यसभा का उपसभापति बना कर एक खिड़की खोलकर रखी है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co