राहुल-प्रियंका ने कहा- भूखे, प्यासे मजदूरों की चीख पुकार सुने सरकार
राहुल-प्रियंका ने कहा- भूखे, प्यासे मजदूरों की चीख पुकार सुने सरकार|Priyank Sahu -RE
पॉलिटिक्स

राहुल-प्रियंका ने कहा- भूखे, प्यासे मजदूरों की चीख पुकार सुने सरकार

कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, सड़कों पर भूखे, प्यासे और पैदल चल रहे श्रमिको के कारण त्राहिमाम की स्थिति है, सरकार को उनकी चीख पुकार सुनकर मदद करनी चाहिए।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राज एक्‍सप्रेस। कोरोना महामारी और लॉकडाउन की वजह से मजूदरों को काफी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है, वे काफी पेरशानी में हैं। इसी बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि सड़कों पर भूखे, प्यासे और पैदल चल रहे श्रमिकों के कारण त्राहिमाम की स्थिति है और सरकार को उनकी चीख पुकार सुनकर उनकी मदद करनी चाहिए।

राहुल गांधी ने किया ट्वीट :

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा-''अंधकार घना है कठिन घड़ी है, हिम्मत रखिए-हम इन सभी की सुरक्षा में खड़े हैं। सरकार तक इनकी चीखें पहुँचा के रहेंगे, इनके हक़ की हर मदद दिला के रहेंगे। देश की साधारण जनता नहीं, ये तो देश के स्वाभिमान का ध्वज हैं..इसे कभी भी झुकने नहीं देंगे।"

प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट :

महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस स्थिति पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा, देश की सड़कों पर त्राहिमाम की स्थिति है, महानगरों से मजदूर भूखे प्यासे, पैदल अपने छोटे छोटे बच्चों और परिवार को लेकर चले जा रहे हैं। ऐसा लगता है जैसे व्यवस्था ने इनको त्याग दिया हो। मई की धूप में सड़कों पर चल रहे लाखों मजदूरों का ताँता लगा है। रोज ऐक्सिडेंट हो रहे हैं, रोज ये गरीब हिंदुस्तानी मारे जा रहे जा रहे हैं। इनके लिए सरकार बसें क्यों नहीं चलवा रही? उत्तरप्रदेश रोडवेज की बीस हज़ार बसे खड़ी हैं। कृपया इन्हें सड़कों पर उतार दीजिए। इन्हीं के श्रम से हमारे ये महानगर बने हैं, इन्हीं के श्रम से देश आगे बढ़ा है।

भगवान के लिए इन्हें सड़कों पर ऐसे बेसहारा न छोड़िए, उत्तरप्रदेश की सभी जिला शहर इकाईयों से मेरा आग्रह है कि, इन जरूरतमंद लोगों की मदद कार्य और तेज कर दीजिए। पूरी ताकत लगा दीजिए। ये सेवा का वक्त है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का एक एक कार्यकर्ता इन हिंदुस्तानी भाइयों के साथ खड़ा है।
प्रियंका गांधी

श्रीमत वाड्रा ने पुलिसकर्मियों से श्रमिकों के साथ संवेदनशीलता से पेश आने का आग्रह करते हुए कहा, ''मैं समझती हूँ आप पर काम का दबाव है। आप भी परेशान हो। मगर आपसे मेरी एक विनती है इन बेसहारा लोगों बल प्रयोग मत करिए। इनसे वैसे ही विप्पति टूटी हुई है। इनकी गरिमा की रक्षा कीजिए।"

डिस्क्लेमर: यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। सिर्फ शीर्षक में बदलाव किया गया है। अतः इस आर्टिकल अथवा समाचार में प्रकाशित हुए तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co