हाथरस घटना पर राहुल का तंज- दलितों का स्थान दिखाने UP सरकार की शर्मनाक चाल
हाथरस गैंगरेप पीड़िता का जबरन अंतिम संस्कार को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने फिर तीखा हमला बोलते हुए कहा-दलितों को दबाकर उन्हें समाज में उनका ‘स्थान’ दिखाने के लिए UP सरकार की शर्मनाक चाल है।
हाथरस घटना पर राहुल का तंज- दलितों का स्थान दिखाने UP सरकार की शर्मनाक चाल
हाथरस घटना पर राहुल का तंज- दलितों का स्थान दिखाने UP सरकार की शर्मनाक चालPriyanka Sahu -RE

उत्‍तर प्रदेश, भारत। उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 साल की लड़की से सामूहिक दुष्कर्म और फिर उसकी मौत केे बाद पूरा देश शर्मसार है। दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत के बाद शव परिजनों को नहीं सौंपा गया और हाथरस गैंगरेप पीड़िता का जबरन अंतिम संस्कार किए जाने के बाद इस मामले पर विरोध और अधिक होने लगा है। हाथरस में दलित युवती के साथ हुई झकझोर कर देने वाली घटना को लेकर राज्‍य की योगी सरकार कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों के निशाने पर हैं।

राहुल गांधी ने ट्वीट में लिखा :

हाथरस गैंगरेप पीड़िता का जबरन अंतिम संस्कार को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व वायनाड से सांसद राहुल गांधी फिर UP की योगी सरकार पर तीखा हमला बोला है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा- ये सब सिर्फ़ दलितों को दबाकर उन्हें समाज में उनका ‘स्थान’ दिखाने के लिए UP सरकार की शर्मनाक चाल है। हमारी लड़ाई इसी घृणित सोच के ख़िलाफ़ है। #HathrasHorrorShocksIndia

इसी से पहले राहुल गांधी ने एक वीडियो ट्वीट कर कैप्‍शन में लिखा- भारत की एक बेटी का रेप-क़त्ल किया जाता है, तथ्य दबाए जाते हैं और अन्त में उसके परिवार से अंतिम संस्कार का हक़ भी छीन लिया जाता है, ये अपमानजनक और अन्यायपूर्ण है।#HathrasHorrorShocksIndia

बता दें, दिल्‍ली के सफदरजंग अस्‍पताल में हाथरस गैंगरेप की पीड़िता की मौत के बाद पीड़िता का अंतिम संस्कार रात करीब 2:40 बजे बिना किसी रीति रिवाज के और परिजनों की गैरमौजूदगी में पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया।

UP के CM योगी से इस्तीफे की मांग की :

इस मामले पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस्तीफे की मांग की, साथ ही ये कहा, ''रात को 2.30 बजे परिजन गिड़गिड़ाते रहे लेकिन हाथरस की पीड़िता के शरीर को प्रशासन ने जबरन जला दिया। जब वह जीवित थी तब सरकार ने उसे सुरक्षा नहीं दी। जब उस पर हमला हुआ सरकार ने समय पर इलाज नहीं दिया। पीड़िता की मृत्यु के बाद सरकार ने परिजनों से बेटी के अंतिम संस्कार का अधिकार छीना और मृतका को सम्मान तक नहीं दिया। घोर अमानवीयता।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co