राहुल गांधी का किसानों को खत- अब अगले साल तक यह खाका रखे सामने
राहुल गांधी का किसानों को खत- अब अगले साल तक यह खाका रखे सामनेPriyamka Sahu -RE

राहुल गांधी का किसानों को खत- अब अगले साल तक यह खाका रखे सामने

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किसानों-मजदूरों के नाम लिखा एक खत और कहा कि, प्रधानमंत्री को अगले साल तक किसानों की आय दोगुनी करने का खाका सामने रखना चाहिए।

दिल्‍ली, भारत। केंद्र की मोदी सरकार द्वारा जब तीन नए कृषि कानूनों को लागू किया गया था, तब भी इसको लेकर काफी राजनीति हुई थी और जब इन तीनों कानूनों की वापसी का ऐलान होने पर भी इस पर अभी तक सियासत जारी है। तो वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कृषि कानूनों को वापस लेने के फैसले के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किसानों के नाम एक खत लिखा है।

इस खत में राहुल गांधी ने लिखा :

इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किसानों-मजदूरों के नाम लिखे इस खत में कहा है कि, ''प्रधानमंत्री को अगले साल तक किसानों की आय दोगुनी करने का खाका सामने रखना चाहिए।'' कांग्रेस के ट्विटर अकाउंट पर साझा हुए ट्वीट में राहुल गांधी ने अन्‍दाताओं के नाम संदेश में कहा कि, ''मेरे प्यारे अन्नदाताओं, आपके तप, संघर्ष और बलिदान के दम पर मिली ऐतिहासिक जीत की बहुत-बहुत बधाई। मैं आपके इस संघर्ष में 700 से अधिक किसान-मजदूर भाई-बहनों द्वारा दी गई कुर्बानी के लिए नतमस्तक हूं।''

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने इस खत में लिखा- आपके तप, संघर्ष और बलिदान के दम पर मिली ऐतिहासिक जीत की बहुत-बहुत बधाई। करीब 12 महीने से ठिठुरती ठंड, भीषण गर्मी, बरसात, तमाम परेशानियों व जुल्मों के बावजूद तीनों खेती विरोधी काले कानूनों को खत्म कराने का जो सत्याग्रह आपने जीता है, उसकी दूसरी मिसाल आजाद भारत के इतिहास में नहीं मिलती। एक तानाशाह शासक के अहंकार से लड़ते हुए जिस गांधीवादी तरीके से आपने उन्हें फैसला वापस लेने को मजबूर किया, यह असत्य पर सत्य की विजय का एक बेजोड़ उदाहरण है।

आज के इस ऐतिहासिक दिन हम उन शहीद किसान-मज़दूर भाई-बहनों को याद करते हैं, जिन्होंने अपनी जान का बलिदान देकर इस सत्याग्रह को मजबूत किया। काश, ये नौबत ही न आती, अगर केंद्र सरकार ने शुरू ही में किसानों की मांगों पर ध्यान दिया होता।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी

साथियों, संघर्ष अभी खत्म नहीं हुआ है :

उन्होंने आगे किसानों का आह्वान किया कि, ‘‘साथियों, संघर्ष अभी खत्म नहीं हुआ है। कृषि उपज का लाभकारी न्यूनतम समर्थन मूल्य मिले, विवादास्पद बिजली संशोधन कानून खत्म हो, खेती की जोत में इस्तेमाल होने वाली हर चीज पर लगाए गए टैक्स का बोझ घटे, डीजल के दामों में अप्रत्याशित वृद्धि कम हो तथा खेत-मजदूर पर कमरतोड़ कर्ज के बोझ का हल निकालना खेतिहर किसान के संघर्ष के गंभीर विषय हैं। मैं आप सबको भरोसा दिलाता हूं कि मौजूदा आंदोलन की ही भांति भविष्य में भी आपके सभी जायज संघर्षों में मैं और कांग्रेस पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता आपके कंधे से कंधा मिलाकर आपकी आवाज को बुलंद करेंगे।’’

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co