बिहार के चुनावी माहौल में नल-जल योजना के ठेकेदारों पर रेड से गरमाई सियासत

बिहार के चुनावी माहौल में नीतिश सरकार की नल-जल योजना के तहत काम कर रहे ठेकेदार के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी के बाद चुनावी राजनीति तेज हो गई है। जानें किसने क्‍या कहा...
बिहार के चुनावी माहौल में नल-जल योजना के ठेकेदारों पर रेड से गरमाई सियासत
बिहार के चुनावी माहौल में नल-जल योजना के ठेकेदारों पर रेड से गरमाई सियासतPriyanka Sahu -RE

बिहार, भारत। बिहार में विधानसभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग हो गई है, अब 3 नवंबर को दूसरे चरण की वोटिंग होने वाली है, इसे लेकर जहां राजनीतिक गतिविधियां जारी हैं। इसी बीच राज्‍य की नीतिश सरकार की 'नल-जल योजना' के तहत काम कर रहे ठेकेदार के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी से बिहार के चुनावी माहौल में सियासत गरमाई और चुनावी राजनीति तेज हो गई है।

छापेमारी में 75 करोड़ की अघोषित आय का खुलासा :

दरअसल, आयकर विभाग द्वारा हाल ही में बिहार के पटना, भागलपुर, हिलसा और कटिहार में चार प्रमुख ठेकेदार समूहों के यहां एक साथ छापेमारी की, इस दौरान चारों ठेकेदारों के यहां 75 करोड़ की अघोषित आय का खुलासा हुआ है। इनमें से दो ठेकेदार ऐसे हैं, जो नल-जल योजना से संबंधित हैं। इनमें से एक ठेकेदार के यहां से आयकर विभाग की टीम ने नकद 2.28 करोड़ रुपये बरामद किए। नल-जल योजना के ठेकेदारों पर रेड के मामले के बाद मौजूदा सरकार को आड़े हाथ लेते हुए विपक्ष की प्रतिक्रिया आना शुरू हो गई।

इस छापेमारी के बाद लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान अब लगातार बिहार में नल जल योजना में भ्रष्ट्राचार का मुद्दा उठा रहे हैं, तो वहीं, जेडीयू का कहना है कि, यह भ्रष्ट्रचार का मामला नहीं बल्कि टैक्स चोरी का मामला है और यह स्वागत योग्य है। इसके अलावा आरजेडी का ये कहना है कि, 'ये सब बीजेपी का गेम है ताकि नीतीश कुमार बेनकाब हो सकें।'

इस योजना के क्रियान्वयन में बड़ा घोटाला :

वहीं विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि इस घोटाले का स्वरूप कई गुना अधिक है और उनकी सरकार आयी तो विस्तार से इसकी जाँच करायेगी. इसके साथ ही उनका कहना है कि इस पूरे योजना के क्रियान्वयन में बड़ा घोटाला हुआ है. लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान का कहना है कि वो तो शुरू से कह रहे हैं कि इस घोटाले के तार सत्ता में शीर्ष पर बैठे लोगों से जुड़े हैं. अगर जांच हुई तो बहुत कुछ सामने निकल कर आयेगा।

RJD प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी का कहना :

आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि, चिराग पासवान लगातार करप्शन का आरोप लगा रहे हैं, तेजस्वी यादव भी कह रहे हैं कि नल-जल योजना भ्रष्टाचार का केंद्र बना हुआ है। चिराग पासवान यहां तक कह चुके हैं कि यदि करप्शन मिला तो नीतीश कुमार को जेल जाना होगा।

ये सीधा बीजेपी का खेल है, यह मुख्यमंत्री को समझ आ गया होगा। चिराग पासवान ने जैसे ही कहना शुरू किया, बीजेपी ने खेल शुरू कर दिया। अब बीजेपी का चाल चरित्र चेहरा नीतीश कुमार से अच्छा कौन जानता है, धीरे धीरे शुरू करके भ्रष्टाचार तक जाएंगे। टैक्स चोरी का मामला अभी तक नहीं था और जब चिराग पासवान ने सवाल खड़ा किया तो फिर शुरू हो गया, ये पूरा गेम बीजेपी का है।

आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी

आयकर की यह कार्रवाई स्वागत योग्य :

इसके अलावा पार्टी के प्रवक्ता राजीव रंजन का ये कहना है कि, ''आयकर की यह कार्रवाई स्वागत योग्य है, सबसे बड़ी बात है कि भ्रष्टाचार के सवाल पर जीरो टॉलरेंस की नीति पर नीतीश कुमार के नेतृत्व में 15 साल से काम हुआ है।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co