दिग्‍गी का बयान पर अब रवि शंकर प्रसाद भड़के
दिग्‍गी का बयान पर अब रवि शंकर प्रसाद भड़के Social Media

दिग्‍गी का बयान पर अब रवि शंकर प्रसाद भड़के और राहुल गांधी से पूछ ली यह बड़ी बात...

दिग्विजय सिंह के बयान पर जमकर सुलगी राजनीति, अब भाजपा सांसद रविशंकर प्रसाद का फूटा गुस्सा और कांग्रेस नेता राहुल गांधी को आड़े हाथों लेते हुए कई सवाल पूछे है...

दिल्‍ली, भारत। कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह के सर्जिकल स्ट्राइक पर दिए गए बयान से जमकर राजनीति सुलगी हुई है। भाजपा और कांग्रेस नेताओं के बीच बयानबाजी देखी जा रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांंधी द्वारा जम्‍मू में प्रेस वार्ता के बाद अब भाजपा सांसद रविशंकर प्रसाद की ओर से नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

हमें राजनीति से ऊपर उठकर सेना का सम्मान करना चाहिए :

दरअसल, दिग्विजय सिंह के बयान पर भाजपा सांसद रविशंकर प्रसाद का गुस्सा फूटा और उन्‍होंने कहा- ये देश सेना की शहादत का सबूत नहीं मांगता उनके बलिदान को सलाम करता है। दिग्विजय सिंह ने जाकिर नाइक को शांति का दूत बनाया था और बाटला हाउस एनकाउंटर में मारे गए आतंकियों के परिवार से मिले और एनकाउंटर पर सवाल खड़ा किया। भारत की सेना देश की बहुत बड़ी संपत्ति है और हमें भारतीय सेना की परंपरा, उसकी वीरता और बलिदान पर गर्व है। हमें राजनीति से ऊपर उठकर सेना का सम्मान करना चाहिए।

रविशंकर ने राहुल से पूछा :

इस दौरान रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को आड़े हाथों लेते हुए कई सवाल पूछे और कहा कि, ''मैं राहुल गांधी से पूछता हूं कि उन्हें सार्वजनिक रूप से यह कहने में सालों क्यों लग गए कि वह सशस्त्र बलों की संस्था का सम्मान करते हैं? तथ्य यह है कि वह वास्तव में नहीं करता है। राहुल गांधी जी, हजारों किलोमीटर साथ चलने के बाद भी आप दिग्विजय सिंह को भारत की सेना का सम्मान करना क्यों नहीं सिखा पाए? वह भी कश्मीर के अंदर, ये बड़े शर्म की बात है।''

कल सुभाष चंद्र बोस की जयंती थी, दिल्ली में इतनी बड़ी प्रतिमा नेता जी सुभाष चंद्र बोस की लगी है, क्या कांग्रेस का कोई नेता वहां प्रणाम करने गया? ये कांग्रेसी, सरदार पटेल की प्रतिमा पर भी नहीं गए और नेता जी की प्रतिमा पर भी नहीं गए।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद

इतना ही नहीं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आगे यह भी कहा- राहुल गांधी को अतार्किक और अप्रासंगिक सवाल खड़ा करने के बजाय तथ्यों और आंकड़ों पर बात करनी चाहिए। अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद जम्मू-कश्मीर में जो समृद्धि आई है, वह अद्वितीय है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co