आज तो कमाल हो गया, लेकिन CM ठाकरे की खामोशी कई सवाल खड़े कर रही: रविशंकर
आज तो कमाल हो गया, लेकिन CM ठाकरे की खामोशी कई सवाल खड़े कर रही: रविशंकरTwitter

आज तो कमाल हो गया, लेकिन CM ठाकरे की खामोशी कई सवाल खड़े कर रही: रविशंकर

दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय में रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कहा- आज तो कमाल हो गया, शरद पवार से अनुमति के बाद मुख्यमंत्री जी को इस्तीफा सौंपा गया। तो वहीं CM ठाकरे की खामोशी पर ये बात कही...

दिल्ली, भारत। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इस्तीफा देने के बाद अब राजनीति का दौर शुरू हो गया है। अब केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर महाराष्ट्र सरकार के मुखिया उद्धव ठाकरे पर जोरदार हमला बोला है।

टारगेट के लेकर बोले रविशंकर प्रसाद :

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा- हम शुरू से एक स्वतंत्र निष्पक्ष जांच की मांग कर रहे थे और मुंबई पुलिस के द्वारा ये संभव नहीं था। जैसा आरोप लगाया गया था कि, देशमुख जी ने सचिन वाजे को कहा था कि, मुबंई में 17 सौ बार और रेस्टोरेंट हैं तो आप 100 करोड़ रुपये कलेक्शन कर के दीजिए। हमने ये विषय उठाया था कि, ये टारगेट सिर्फ एक शहर मुंबई का है तो पूरे महाराष्ट्र का टारगेट क्या था? ये टारगेट सिर्फ एक मंत्री का है तो बाकी मंत्री का टारगेट क्या है?

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे खामोश हैं। शरद पवार जी करते हैं कि, मंत्री के बारे में फैसला मुख्यमंत्री करते हैं और कांग्रेस व शिवसेना कहती है कि देशमुख जी के बारे में फैसला एनसीपी करेगी।
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद

आज तो कमाल हो गया :

रविशंकर प्रसाद ने इस दौरान ये भी कहा- आज तो कमाल हो गया, शरद पवार से अनुमति के बाद मुख्यमंत्री जी को इस्तीफा सौंपा गया। हम भी जानते हैं कि शरद पवार के इशारे पर ही वो इस्तीफा देते या न देते, लेकिन उद्धव ठाकरे कब बोलेंगे? उनकी खामोशी कई सवाल खड़े कर रही है।

आगे उन्‍होंने कहा कि, ''प्रमुख राजनीतिक दल के रूप में भाजपा की अपेक्षा है कि इस मामले की सारी परतें खोली जाएं। देशमुख जी जो उगाही की मांग कर रहे थे, वो अपने लिए कर रहे थे या अपनी पार्टी के लिए कर रहे थे या पूरी सरकार के लिए कर रहे थे?''

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले ये भी कहा है कि, ''महाराष्ट्र गृह मंत्री ने इस्तीफा दे दिया। CM उद्धव ठाकरे खामोश है। शरद पवार कहते हैं कि मंत्री के बारे में फैसला CM करते हैं। कांग्रेस और शिवसेना कहती है कि अनिल देशमुख के बारे में फैसला NCP करेगी। अनिल देशमुख ने शरद पवार से मिलकर CM को इस्तीफा दिया।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co