गुपकार समर्थन पर रविशंकर का राहुल-सोनिया से सवाल, 370 पर बताएं अपना स्टैंड

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा- राहुल और सोनिया क्या कांग्रेस 370 को दोबारा लागू करने के फेवर में है या नहीं, इस पर अपना स्टैंड क्लियर करें।
गुपकार समर्थन पर रविशंकर का राहुल-सोनिया से सवाल, 370 पर बताएं अपना स्टैंड
गुपकार समर्थन पर रविशंकर का राहुल-सोनिया से सवाल, 370 पर बताएं अपना स्टैंडSocial Media

दिल्‍ली, भारत। कश्मीर में हो रहे पंचायती चुनाव में गुपकार गठबंधन का समर्थन करने और उससे हाथ मिलाने पर आज कंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कांग्रेस पर जोरदार कटाक्ष किया है।

राहुल-सोनिया पर दागे सवाल :

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि, ''गुपकार घोषणा के तहत गठित 'पीपुल्स अलायंस' की पार्टियां भ्रष्टाचार जारी रखना चाहती हैं इसलिए वे जम्मू-कश्मीर में भ्रष्टाचार-विरोधी कानून नहीं लाने देना चाहतीं। जो मुख्यमंत्री रह चुके हैं वे चीन की मदद से अनुच्छेद-370 वापस लाना चाहते हैं। यह ऐंटी-नेशनल है... अब कांग्रेस पार्टी भी इनके साथ है।''

अनुच्छेद 370 पर अपनी स्थिति स्पष्ट करें :

रविशंकर प्रसाद ने कहा- राहुल जी सोनिया जी से ये पूछना चाहते हैं कि क्या कांग्रेस 370 को दोबारा लागू करने के फेवर में है या नहीं, इस पर अपना स्टैंड क्लियर करें। क्या वो फ़ारुख के बयान का समर्थन करते हैं, जिसमें उन्होंने 370 को दोबारा लागू कराने के लिए चीन के समर्थन मांगने की बात कही थी।

कश्मीर में जो चुनाव हो रहा है, हमें उस पर कांग्रेस पार्टी से सवाल पूछना है, गुपकार डिक्लेरेशन का मुख्य मकसद है 370 को दोबारा लागू कराना। इसके लिए वो चीन की मदद भी मांग रहे हैं। मुफ्ती ने भी ये भी कहा कि जब तक कश्मीर का झंडा नहीं तब तक तिरंगा नहीं, ये इनका पब्लिक स्टैंड है।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ये भी कहा कि, ''कश्मीर की मुस्लिम बेटी अगर जम्मू कश्मीर के बाहर किसी मुस्लिम युवक से भी शादी करती है तो उसे संपति के अधिकार से बेदखल कर दिया जाता था, लेकिन हमने इसे बदला, क्या ये लोग फिर कश्मीर को संकीर्ण मानसिकता की तरफ ढकेलना चाहते हैं।''

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि, गुपकार गठबंधन में 10 पार्टियां हैं, जिसमें प्रमुख रूप से नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी है और अब कांग्रेस भी उसमें आ रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co