लोकसभा में PM केयर्स फंड पर कांग्रेस-बीजेपी नेता के बीच तीखी बहस
लोकसभा में PM केयर्स फंड पर कांग्रेस-बीजेपी नेता के बीच तीखी बहस|Social Media
पॉलिटिक्स

लोकसभा में PM केयर्स फंड पर कांग्रेस-बीजेपी नेता के बीच तीखी बहस

संसद का मानसून सत्र के दौरान लोकसभा में PM केयर्स फंड की चर्चा के दौरान जमकर हंगामा मचा और कांग्रेस-बीजेपी के नेताओं में तीखी बहस हुई एवं विवादित टिप्पणियां दी।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

दिल्‍ली, भारत। संसद का मानसून सत्र चल रहा है, इसी दौरान आज शुक्रवार (18 सितंबर) को . जब लोकसभा में 'पीएम केयर्स फंड' को लेकर चर्चा हुई, तो इस फंड को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच तीखी बहस शुरू हो गई।

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा :

पीएम केयर्स फंड पर हो रही चर्चा के दौरान सदन में कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि, ''पीएम केयर्स फंड का नाम प्रधानमंत्री की संस्था से जुड़ा हुआ है, इसलिए यह अधिक उपयुक्त नहीं होगा। अगर यह फंड सार्वजनिक विश्वास के बजाय कानून के माध्यम से बनाया गया होता तो ज्यादा उपयुक्त होता।''

मनीष तिवारी के बयान पर अनुराग ठाकुर का पलटवार :

मनीष तिवारी द्वारा दिए गए इस बयान पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने पलटवार करते हुए विवादित टिप्पणी की और कहा कि,

पीएम केयर्स फंड का विरोध, केवल विरोध के नाम पर हो रहा है, जिस तरह से इन्होंने ईवीएम का विरोध किया और कई चुनाव हारे, इन्होंने लगातार जन-धन योजना, विमुद्रीकरण, तीन तलाक और जीएसटी को बुरा बताया, इन्हें हर चीज में खामी नजर आती है, जबकि खुद इनकी ही नीयत में खोट है। पीएम केयर्स फंड एक पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट है, जिसकी स्थापना भारत के लोगों के लिए की गई है।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर

अनुराग ठाकुर की टिप्‍पणी पर कांग्रेस का विराध :

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की इस टिप्‍पणी के बाद कांग्रेस सांसदों ने जमकर विरोध व हंगामा करना शुरू कर दिया। वहीं, लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, ''हिमाचल का ये *** कहाँ से आ गया? ये *** कहाँ से आ गया? नेहरूजी कहां से आ गए बहस में? हमने मोदीजी का नाम लिया क्या? ये तीन दिन का ***।''

सत्ता पक्ष और विपक्ष के सांसदों ने एक-दूसरे के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान कांग्रेस के सांसद अधीर रंजन चौधरी ने वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी। इस हंगामे के चलते लोकसभा स्‍पीकर ओम बिरला को सदन की कार्यवाही चलाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा, इतना ही नहीं विवाद तब ओर अधिक बढ़ गया जब तृणमूल सांसद ने स्‍पीकर पर आरोप लगाया कि, वे बीजेपी सांसदों का बचाव करते हैं। उन्‍होंने कहा-आप चाहे तो हमें निकाल दीजिए, ये नहीं चलेगा, हम नहीं चलने देंगे।

इस दौरान लोकसभा स्‍पीकर ने कहा था कि, कोई अगर सुरक्षा से खिलवाड़ करने की कोशिश करेगा तो नाम लेकर सदन से बाहर जाने को भी कह सकता हूँ, मास्क लगा कर बोलिए। वहीं, हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही को आधे घंटे तक के लिए स्थगित कर दिया गया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co