किताब विवाद पर सलमान खुर्शीद की सफाई- मेरी किताब में आतंकी शब्द ही नहीं है
किताब विवाद पर सलमान खुर्शीद की सफाई Social Media

किताब विवाद पर सलमान खुर्शीद की सफाई- मेरी किताब में आतंकी शब्द ही नहीं है

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) ने किताब विवाद पर सफाई देते हुए कहा- मैंने हिंदुत्व को कभी आतंकी संगठन नहीं कहा, मैंने इस किताब को लिखने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश का इंतजार किया।

दिल्‍ली, भारत। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद की किताब 'सनराइज ओवर अयोध्या' को लेकर मचा सियासी घमासान थम ही नहीं रहा है और सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) विवादों में घिरे हुए है, इस बीच अब उन्‍होंने इस पूरे विवाद पर सफाई आई है।

मेरी किताब में आतंकी शब्द ही नहीं है :

इस दौरान कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने किताब विवाद पर सफाई देते हुए कहा- मैंने हिंदुत्व को कभी आतंकी संगठन नहीं कहा, मैंने इस किताब को लिखने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश का इंतजार किया। मैंने किसाब में लिखा कि, जो लोग हिंदू धर्म का दुरुपयोग करते हैं, वह आईएसआईएस और बोको हराम का समर्थन करते हैं। मेरी किताब में आतंकी शब्द ही नहीं है।

मैं किताब में लोगों को जोड़ना चाहता हूं, मेरी किताब में महात्मा गांधी का जिक्र है। राम का जिक्र है, बल्कि पूरी रामायण है, लेकिन हिंदू धर्म को मानने वाले लोग इसकी चर्चा भी नहीं कर रहे।

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद

सलमान खुर्शीद ने आगे यह भी कहा कि, ''मैं और मेरी पार्टी एक है, जो मेरी पार्टी चाहती है, करती है, कहती है, उससे मैं पूरी तरह सहमत हूं। मैं पार्टी से अलग नहीं हो सकता और ना ही पार्टी से अलग कोई बात कह सकता हूं। मैंने किताब में कोशिश की है कि जो मेरी पार्टी कहती है और सोचती है, उसी का मैं यहां उल्लेख करूं। अगर कांग्रेस कहेगी ये ना कहो तो मैं नहीं कहूंगा, लेकिन पार्टी ने तो इसका समर्थन किया है। राहुल गांधी ने कहा है कि, अगर हिंदू और हिंदुत्व अलग-अलग नहीं है तो फिर इनके दो नाम क्यों हैं। मैंने अपनी किताब में हिंदुत्व की तारीफ है कि इसे बढ़ाना चाहिए और स्वीकार करना चाहिए। अगर राहुल गांधी ने हिंदू धर्म का अपमान किया है तो वह उनका भी अपमान है, क्योंकि वह खुद हिंदू है।''

गुलाब नबी आजाद के बयान पर बोले सलमान खुर्शीद :

तो वहीं, गुलाब नबी आजाद द्वारा दिए गए बयान पर भी कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने यह बात कही कि, ''आजाद जी जब स्टेटमेंट जारी करते थे तो G-23 हुआ करता था, आज G-1 है। इसका मतलब वह अकेले पड़ गए, बाकी लोग कहां गए? वह मेरे साथी और मेरे सीनियर नेता हैं। उन्होंने जो कहा मैं उसका सम्मान करता हूं।''

बता दें कि, गुलाब नबी आजाद ने अपने बयान में कहा था, ''हिंदुत्व की जिहादी इस्लाम से तुलना करना गलत है। हम भले ही एक राजनीतिक विचारधारा के तौर पर हिंदुत्व से सहमत न हों लेकिन उसे आईएसआईएस और जिहादी इस्लाम से जोड़ना गलत है।”

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co