राहुल के बयान पर शरद पवार की चुटकी-1962 का अतीत दिलाया याद
राहुल के बयान पर शरद पवार की चुटकी-1962 का अतीत दिलाया याद|Social Media
पॉलिटिक्स

राहुल के बयान पर शरद पवार की चुटकी-1962 का अतीत दिलाया याद

चीन के साथ तनाव को लेकर राहुल गांधी सरकार पर लगातार हमलावर हैं और अपने बयान दे रहे है, इसी को लेकर उनके सहयोगी दल शरद पवार ने उन्हें अतीत की याद दिलाते हुए कहा-भूल नहीं सकते 1962 में क्या हुआ था

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

महाराष्‍ट्र, भारत। पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ तनाव को लेकर कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता राहुल गांधी लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर चुटकी ले रहे है और सवालों की बौछार कर रहे है। इस दौरान भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों के नेताओं में वार-पलटवार का दौर जारी था, इसी बीच अब उन्हीं के सहयोगी दल एनसीपी की भी एंट्री हो गई है। राहुल गांधी के बयानों पर एनसीपी के प्रमुख शरद पवार ने अपनी प्रतिक्रिया देकर उनको आईना दिखाया है।

इतिहास याद रखना चाहिए :

दरअसल, चीन के साथ जारी तनातनी पर राहुल गांधी के बयानों के प्रति क्रूर कटाक्ष कर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार ने आज अपनी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि, ''हम नहीं भूल सकते कि 1962 में क्या हुआ था। चीन ने हमारी 45 हजार स्क्वेयर किमी जमीन पर कब्जा कर लिया था। वर्तमान में मुझे नहीं पता कि चीन ने जमीन ली है या नहीं, मगर इस पर बात करते वक्त हमें इतिहास याद रखना चाहिए। राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर राजनीति नहीं करनी चाहिए।''

मुझे अभी युद्ध की कोई आशंका नहीं दिखती है। हालांकि चीन ने जाहिर तौर पर हिमाकत तो की है। गलवान में भारतीय सेना ने जो भी निर्माण कार्य किया है वह अपनी सीमा में किया है।

एनसीपी प्रमुख शरद पवार

बता दें कि, शरद पवार ने यह बयान राहुल गांधी के उस आरोप के जवाब में दिया, जो उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगाए थे! राहुल गांधी ने पिछले दिनों कहा था कि, प्रधानमंत्री ने भारत की जमीन चीन को सरेंडर कर दी है] जिसके जवाब में शरद पवार ने कहा कि कुछ लोगों को 1962 का वह समय याद रखना चाहिए जब देश की सरजमीं के बड़े हिस्से पर चीन ने कब्ज़ा कर लिया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co