Raj Express
www.rajexpress.co
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान.
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान.|Social Media
पॉलिटिक्स

लाज-शर्म बची हो तो कर्ज़माफ़ी पर जल्द से जल्द फैसला लीजिये : शिवराज

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार को किसान क़र्ज़ माफ़ी के मुद्दे पर फिर से घेरा है।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव का सबसे चर्चित मुद्दा किसान क़र्ज़ माफ़ी जिसकी घोषणा के बाद मध्यप्रदेश के किसानों का भरोसा कांग्रेस पर फिर से जाग गया था और प्रदेश की जनता ने कांग्रेस को सरकार में ला दिया परंतु अब तक किसान क़र्ज़ माफ़ी नहीं हो पायी है। इस पर किसानोें के प्रिय नेता शिवराज सिंह ने फिर से विरोध जताया है और कमलनाथ सरकार को तंज कस्ते हुए कहा की लाज-शर्म बची हो तो कर्ज़माफ़ी पर जल्द से जल्द फैसला लीजिये।

आखिर क्या है प्रदेश में किसान क़र्ज़ माफ़ी की स्थिति

कांग्रेस के विधानसभा चुनाव के दौरान जारी वचन पत्र के अनुसार प्रदेश के सभी किसानों का 2 लाख तक का क़र्ज़ माफ़ किया जाना था। प्रदेश में सरकार बनते ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किसान क़र्ज़ माफ़ी के फैसले वाली फाइल पर ही हस्ताक्षर किये थे । पर ज़मीनी स्तर पर अब तक सम्पूर्ण क़र्ज़ माफ़ी नहीं हो पायी है। मध्यप्रदेश में अभी तक 50 हज़ार तक का ही किसानों का क़र्ज़ माफ़ हुआ है।

अब तो आपके ही लोग आपको आईना दिखा रहे हैं

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के बयान को इंगित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा अब तो आपके लोग ही आपको आईना दिखा रहे हैं।

मध्यप्रदेश में कितनी जरूरी है किसान क़र्ज़ माफ़ी

मध्यप्रदेश में किसान मौसम और महँगाई की दोहरी मार झेल रहे हैं। ऐसे में किसान क़र्ज़ माफ़ी किसानों के लिए सौग़ात से कम साबित नहीं होगी। प्रदेश में पेट्रोल-डीज़ल कीमतें आसमान छू चुकी हैं जिससे खेती की लागत मूल्य भी बढ़ गया है। सरकारी रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में छह से सात लाख हेक्टेयर रकबे सोयाबीन, मूंग, उड़द और सब्जी की फसलें बर्बाद हो गई हैं। मध्यप्रदेश कृषि प्रधान राज्य है ऐसे में प्रदेश का विकास तभी संभव है जब प्रदेश के किसान का विकास हो सके। अत: वर्तमान परिस्थितियों के हिसाब से किसान कर्ज माफी ही एकमात्र रास्ता है।

मध्य प्रदेश के पूर्व जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी सिंधिया के बयान का समर्थन किया

नरोत्तम मिश्रा ने सिंधिया के कर्ज माफी के बयान का समर्थन करते हुए कहा की एक भी किसान का 2 लाख का कर्ज माफ हुआ होगा तो मैं 2 लाख दूंगा वहीं उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि क्या अब किसान कागज के गत्ते कांग्रेस नेताओं के घर ले जाये क्या ।इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भी कर्जमाफी पर सरकार को तीखी सुन्ना चुके हैं।