शिवराज सिंह राजभवन पहुंचे, सरकारी नियुक्तियों को बताया असंवैधानिक
शिवराज सिंह राजभवन पहुंचे, सरकारी नियुक्तियों को बताया असंवैधानिक|Social Media
पॉलिटिक्स

शिवराज सिंह राजभवन पहुंचे, सरकारी नियुक्तियों को बताया असंवैधानिक

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज फिर राजभवन पहुंचे, कमलनाथ सरकार द्वारा संवैधानिक पदों पर नियुक्तियों को लेकर उठाए सवाल।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गोपाल भार्गव और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा राजभवन पहुंचे। बीते 20 घंटे में भाजपा नेताओं की राज्यपाल से यह दूसरी मुलाकात है। नेताओं ने राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन सौंपा। इसमें उन्होंने कमलनाथ सरकार द्वारा की जा रही संवैधानिक नियुक्तियों पर रोक लगाने की मांग की। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, कमलनाथ सरकार ने इतनी तबाही और बर्बादी की कि उनके 16 विधायकों को इस्तीफा देना पड़ा। राज्य सरकार अल्पमत में है। इसके बाद भी संवैधानिक पदों पर नियुक्ति कर रही है। ये नियुक्तियां असंवैधानिक हैं।

शिवराज सिंह राजभवन पहुंचे, सरकारी नियुक्तियों को बताया असंवैधानिक
शिवराज सिंह राजभवन पहुंचे, सरकारी नियुक्तियों को बताया असंवैधानिक
Social Media

शिवराज सिंह ने बताया कि, मध्य प्रदेश में चल रहे मामले की सुनवाई सु्प्रीम कोर्ट में होने जा रही है। हमने राज्यपाल से अनुरोध किया कि इन नियुक्तियों को रोका जाए। रातोंरात चीफ सेक्रेटरी बदले जा रहे हैं। चीफ सेक्रेट्री के पद पर दागी अफसर की नियुक्ति की गई है। बिजली नियामक आयोग अध्यक्ष के पद पर भी ऐसे ही अधिकारी की नियुक्ति की कोशिश कर रही है। दरअसल, कमलनाथ सरकार का टाइम काटू कार्यक्रम चल रहा है। विधायक बंधक नहीं हैं। वे खुली हवा में सांस ले रहे हैं। उनका दम कमलनाथ सरकार में घुटता है। उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा दिया है। यह कोई साधारण बात नहीं है।

भाजपा नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, हमने अविश्वास प्रस्ताव का कोई नोटिस नहीं दिया है। जब राज्यपाल ने फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया है तो हम क्यों अविश्वास प्रस्ताव का कहेंगे। वहीं, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि, इन नियुक्तियों की जानकारी राज्यपाल तक की जानकारी में नहीं है। हम इसकी शिकायत करने राज्यपाल के पास गए थे। ऐसी कौनसी कयामत आ रही थी जो आधी रात को चीफ सेक्रेट्री को चार्ज दिलाया गया।

इससे पहले भाजपा नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा कह चुके हैं कि, कांग्रेस विधायक खुद बोल रहे हैं कि कमलनाथ सरकार छिंदवाड़ा ( मुख्यमंत्री के गृहनगर) तक सिमट चुकी है। उन्होंने पुत्रमोह में पूरी सरकार को डुबा दिया। एक राष्ट्रीय अध्यक्ष ने तो पुत्रमोह में देश के अंदर कांग्रेस को डुबा दिया। बता दे , मध्य प्रदेश सरकार द्वारा बीती रात महिला आयोग की अध्यक्ष की नियुक्ति सहित अन्य महत्वपूर्ण प्रशासनिक बदलाव किए गए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co