Smriti Irani Reaction On JNU Violence
Smriti Irani Reaction On JNU Violence|Social Media
पॉलिटिक्स

देश के दो ज्वलंत मुद्दों पर स्मृति ईरानी ने दी प्रतिक्रिया

देश में सबसे अधिक ज्वलंत मुद्दों (JNU हिंसा और कोटा में मासूमों की मौत) पर स्मृति ईरानी ने कहा-शैक्षिक संस्थानों को राजनीति का अखाड़ा न बनाए व मासूमों की मौत मामले पर कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा...

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी आज 6 जनवरी को अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के एक दिवसीय दौरे पर पहुंचीं, इस दौरान उन्‍होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए देश में सबसे अधिक ज्वलंत मुद्दों पर अपनी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की है।

क्‍या हैं दो ज्वलंत मुद्दे ?

इन दिनों सुर्खियों व ज्वलंत मुद्दों में एक तो JNU हिंसा का मामला और दूसरा राजस्थान के कोटा में नवजात शिशुओं की मौत का मामला गरमाया हुआ है। यह दोनों मामले तूल पकड़े हुए हैं और राजनीतिक पार्टियां अपनी-अपनी राय दे रही हैं।

JNU हिंसा पर क्‍या बोलीं स्मृति ईरानी?

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का JNU हिंसा मामले पर यह कहना है कि, "शैक्षिक संस्थानों को राजनीति का अखाड़ा न बनाया जाए। इससे हमारे जितने भी छात्र हैं, उनके जीवन पर असर पड़ता है, उनकी प्रगति भी असर पड़ता है।" उन्‍होंने यह भी कहा कि, ''मैं आशावादी हूं कि राजनीतिक अखाड़ा और राजनीतिक मोहरे की तरह छात्रों को इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।''

कोटा में मासूमों की मौत पर ईरानी ने कहा-

वहीं राजस्थान के कोटा में मासूमों की मौत को लेकर स्मृति ईरानी का कहना है कि, ''स्वास्थ्य की व्यवस्थाओं में जब कोई गरीब आता है तो इस अपेक्षा के साथ आता है कि भले ही उसके पास पैसे न हों, लेकिन उसे सरकारी संस्थान के माध्यम से संरक्षण और सेवा प्राप्त होगी।''

कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा-

प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि इस प्रकार की व्यवस्थाओं में अगर कोई चुनौती आती है तो उसे देखते हुए तत्परता से समाधान दे। राजस्थान में जब से मामला सामने आया तब से लेकर आजतक अस्पताल के जो मेडिकल आफिसर्स हैं, जिनको नेशनल प्रोटेक्शन आफ चाइल्ड से समन किया था, जब चेयरमैन वहां गए थे तब भी वो वहां उपस्थित नहीं थे, तो जिम्मेदार लोग अपने दायित्व का निर्वहन किस प्रकार से कर रहे हैं।
स्मृति ईरानी

इस दौरान उन्‍होंने डिप्‍टी CM सचिन पायलट के बयान को सराहा और कहा- उन्होंने इस बात को स्वीकारा की कहीं न कहीं राजस्थान सरकार से कमी रह गई है।

अमेठी दौरे पर क्‍यों पहुंची ईरानी ?

अमेठी दौरे पर जाने के बाद मंत्री स्मृति ईरानी ने यहां फुरसतगंज में रैन बसेरा का उद्घाटन किया, इसके अलावा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों से मुलाकात कर स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में जानकारी भी ली।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co