राष्‍ट्रपति के अपमान पर भाजपा आगबबूला, सोनिया-स्मृति में नोकझोंक, दिखा रोद्र रूप

देश के राष्‍ट्रपति के लिए अधीर रंजन की टिप्‍पणी ने सभी का माथा भन्‍ना दिया, जिससे बयानबाजी तेज है। इस बीच संसद में सोनिया-स्मृति में नोकझोंक हुई। जानें विवाद का पूरा कारण और किसने क्‍या-क्‍या कहा...
सोनिया-स्मृति में नोकझोंक
सोनिया-स्मृति में नोकझोंकSocial Media

दिल्‍ली, भारत। कई बार यह कहावत सुनने को मिली होगी 'करे कोई ओर भरे कोई' कुछ इसी तरह आज देश की राजनीति गरमाई हुई है। दरअसल, कांग्रेस पार्टी के सांसद अधीर चौधरी द्वारा देश की महिला राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी देकर भारी बवाल मचाया है। इस मामले पर सत्ताधारी पार्टी भाजपा आगबबूला है और अधीर चौधरी के साथ-साथ अब उनकी पार्टी की अध्‍यक्ष से भी माफी मांगे जाने की मांग की जा रही है।

क्‍यों और कैसे शुरू हुआ विवाद :

इस विवाद के पीछे का कारण यह है कि, कांग्रेस पार्टी के सांसद अधीर चौधरी ने देश की राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्पत्नी कहा, जिस पर भाजपा के कई नेता भड़क गए है और इस टिप्‍पणी को लेकर लड़ाई तेज होती नजर आ रही है। यहां तक की उनकी इस टिप्पणी के विरोध में आज भाजपा सांसदों द्वारा संसद में हंगामा कर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी माफी मांगे जाने की मांग उठाई है। 'राष्ट्रपत्नी विवाद' पर शीर्ष सरकारी सूत्र के हवाले से पता चला है कि, ''कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को माफी मांगनी पड़ेगी। किसी और चीज का कोई सवाल ही नहीं है।''

अधीर की टिप्‍पणी को लेकर सोनिया-स्मृति में नोकझोंक :

इस बीच यह खबर भी सामने आ रही है कि, अधीर चौधरी के बयान पर नेताओं का इस कदर माथा भन्नाया हुआ है कि, आज संसद भवन में कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के बीच नोकझोंक भी देखी गई। क्‍योंकि, आज जब भाजपा सांसद रमा देवी सोनिया गांधी से बात कर रही थीं, इसी दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी वहां खड़ी थीं, ऐसे में उन्‍होंने भी कहा- अधीर रंजन की गलतियों के लिए आपको माफी मांगना चाहिए, जिस पर सोनिया गांधी भड़क गई और कहा- डोंट टॉक टू मी।

राष्ट्रपति के अपमान के बाद कुछ इस तरह आया भाजपा नेताओं का रिएक्‍शन-

राष्ट्रपति शब्द पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए समान रूप से इस्तेमाल होता है। यह एक सामान्यज्ञान है। स्पष्ट रूप से लोकसभा के विपक्ष के नेता का उद्देश्य नवनिर्वाचित राष्ट्रपति का अपमान करना था। जो एक स्व-निर्मित महिला हैं, एक आदिवासी पृष्ठभूमि से आती हैं। पूरा भारत उनका समर्थन कर रहा है। 'राष्ट्रपत्नी' शब्द का प्रयोग कहीं नहीं होता है।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

राष्ट्रपति के अपमान को लेकर पूरा देश आक्रोशित है, लेकिन कांग्रेस पार्टी हमारे जनजातीय समाज का बार-बार अपमान करती रही है। आज कांग्रेस की अध्यक्ष कहती हैं कि अधीर रंजन माफी मांगे, लेकिन अधीर रंजन कहते हैं कि मैं माफी क्यों मांगू।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल

ये (अधीर चौधरी की 'राष्ट्पत्नी' वाली टिप्पणी) दुर्भाग्यपूर्ण है। कांग्रेस पार्टी को माफी मांगनी चाहिए और मांगनी पड़ेगी। ये देश की महिला का अपमान है, देश के आदिवासियों का अपमान है और साथ ही साथ भारत के सर्वोच्च संवैधानिक पद का भी अपमान है।

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत

ये बहुत बड़ा अपमान है, ये राष्ट्र का अपमान है। सोनिया गांधी और अधीर रंजन चौधरी को माफी मांगनी चाहिए।

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी

सोनिया-स्मृति में नोकझोंक
मुर्मू को राष्ट्र की पत्नी कहने पर भड़की ईरानी, कहा- कांग्रेस के इस नेता ने घृणित कार्य किया

गलती से राष्ट्रपत्नी शब्द निकला :

इसके अलावा अधीर चौधरी ने अपनी गलती को स्‍वीकार करते हुए कहा- दो दिन से जब हम विजय चौक जा रहे थे। हमसे पूछा जा रहा था कि आप कहां जा रहे हैं। हम उनसे कह रहे थे कि हम राष्ट्रपति भवन जाना चाहते हैं और राष्ट्रपति से मिलना चाहते हैं। कल मुझसे गलती से ये (राष्ट्रपत्नी) शब्द निकला था। मैं जानता हूं कि भारत की राष्ट्रपति चाहे कोई भी हो वे हमारे लिए राष्ट्रपति ही हैं। ये शब्द बस एक बार निकला है। ये चूक हुई है, लेकिन सत्ताधारी पार्टी के कुछ लोग राई का पहाड़ बना रहे हैं।

इस दौरान अधीर रंजन चौधरी से माफी मांगे जाने की बात सामने आ रही है, तो वहीं सोनिया गांधी का कहना है कि, वे माफी मांग चुके है। इधर अधीर रंजन चौधरी कहना है कि, ''मैं माफी नहीं मांगूंगा।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co