लाउडस्पीकर-बुलडोजर पर विमर्श हो रहा, महंगाई-बेरोजगारी और मजदूर की बात नहीं हो रही: तेजस्‍वी
महंगाई-बेरोजगारी और मजदूर की बात नहीं हो रही: तेजस्‍वी Social Media

लाउडस्पीकर-बुलडोजर पर विमर्श हो रहा, महंगाई-बेरोजगारी और मजदूर की बात नहीं हो रही: तेजस्‍वी

लाउडस्पीकर को लेकर चल रहे विवाद पर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव ने बड़ा बयान दिया है जिसमें उन्‍होंने लाउडस्पीकर को मुद्दा बनाने वालों से पूछा यह सवाल...

बिहार, भारत। लाउडस्‍पीकर को लेकर इस कदर की राजनीति सुलगी है कि, रोजाना ही इस मसले पर कोई न कोई रिएक्‍शन आता ही है। आज रविवार को लाउडस्पीकर को लेकर चल रहे विवाद पर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव का बड़ा बयान आया है।

लाउडस्पीकर को मुद्दा बनाने वालों से पूछा यह सवाल :

इस दौरान राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव ने अपने बयान में पूछा है कि, जब लाउडस्पीकर नहीं था तो भगवान और खुदा नहीं थे क्या? तेजस्वी यादव ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्विट भी साझा किया, जिसमें लिखा- लाउडस्पीकर को मुद्दा बनाने वालों से पूछता हूं कि लाउडस्पीकर की खोज 1925 में हुई तथा भारत के मंदिरों/मस्जिदों में इसका उपयोग 70 के दशक के आसपास शुरू हुआ। जब लाउडस्पीकर नहीं था तो भगवान और खुदा नहीं थे क्या? बिना लाउडस्पीकर प्रार्थना, जागृति, भजन,भक्ति व साधना नहीं होती थी क्‍या?

बेवजह के मुद्दों को धार्मिक रंग देते हैं :

इसके अलावा एक अन्‍य ट्वीट में तेजस्वी यादव ने यह भी लिखा कि, ''असल में जो लोग धर्म और कर्म के मर्म को नहीं समझते है, वही बेवजह के मुद्दों को धार्मिक रंग देते हैं। आत्म जागरूक व्यक्ति कभी भी इन मुद्दों को तूल नहीं देगा। भगवान सदैव हमारे अंग-संग हैं. वह क्षण-क्षण और कण-कण में व्याप्त हैं। कोई भी धर्म और ईश्वर कहीं किसी लाउडस्पीकर के मोहताज नही हैं।''

लाउडस्पीकर और बुलडोजर पर विमर्श हो रहा है :

इतना ही नहीं तेजस्‍वी यादव ने एक ओर ट्वीट किया है, जिसमें लिखा- लाउडस्पीकर और बुलडोजर पर विमर्श हो रहा है,  लेकिन महंगाई-बेरोजगारी-किसान और मजदूर की बात नहीं हो रही है. जनहित के असल मुद्दों को छोड़, लोगों को भ्रमित किया जा रहा है. जिसे शिक्षा, चिकित्सा, नौकरी, रोजगार नहीं मिल रहा, युवाओं की जिन्दगी बर्बाद हो रही है, इस पर चर्चा क्यों नहीं हो रही?

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.