Raj Express
www.rajexpress.co
चुनावी रैली को संबोधन करने झारखंड के धनबाद पहुँचे गृह मंत्री अमित शाह।
चुनावी रैली को संबोधन करने झारखंड के धनबाद पहुँचे गृह मंत्री अमित शाह। |Twitter
पॉलिटिक्स

नागरिकता संशोधन कानून में हो सकता है बदलाव

झारखण्ड के धनबाद में आयोजित चुनावी रैली को संबोधित करने पहुँचे गृहमंत्री ने अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून में बदलाव के संकेत दिए।

रवीना शशि मिंज

राज एक्सप्रेस। गृहमंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून में बदलाव होने के संकेत दिए हैं। बीते दिन झारखण्ड के धनबाद में चुनावी रैली को संबोधित करने पहुँचे गृहमंत्री ने नागरिकता संशोधन कानून में बदलाव को लेकर संकेत दिए।

गृह मंत्री ने बताया कि, ''नागरिकता कानून को लेकर नॉर्थ ईस्ट के लोगों में कुछ संदेह है और इसको लेकर मेघालय के मुख्यमंत्री ने मुझसे मुलाक़ात की। मैंने उन्हें भरोसा दिलाया है कि, क्रिसमस के बाद इसका कोई ना कोई हल ज़रूर निकाल लिया जाएगा और उन्हें इस क़ानून को लेकर परेशान होने की ज़रूरत नहीं है।''

AGP का पहले समर्थन अब विरोध

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पूर्वोत्तर राज्यों में विरोध हो रहा है। पूर्वोत्तर में बीजेपी की प्रमुख सहयोगियों में से एक असम गण परिषद (AGP) ने पहले कानून का समर्थन किया था, लेकिन असम गण परिषद और वरिष्ठ नेताओं की बैठक के बाद उन्होंने विरोध करने का फैसला किया।

असम गण परिषद का यह भी कहना है कि, वह नागरिकता संशोधन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करेगा। इस मुद्दे पर असम गण परिषद का एक दल प्रधानमंत्री और गृह मंत्री से भी मुलाकात करेगा।

विपक्ष को लेकर निशाना साधा

गृह मंत्री शाह ने विपक्षियों पर नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पूर्वोत्तर राज्यों में आग भड़काने का आरोप लगाया है। गृह मंत्री ने कहा कि, मैं असम और North East के सभी राज्यों से कहता हूँ कि, ''आपकी संस्कृति, भाषा, सामाजिक पहचान और अधिकार अक्षुण्ण रहेंगे।

मेघालय की कोई समस्या होगी तो उसका सकारात्मक रूप से समाधान निकालेंगे।''

कानून का देशभर में हो रहा विरोध

बीते कुछ दिनों से नागरिकता संशोधन कानून का देशभर में विरोध हो रहा है। जिसके बाद यह पहला मौका था, जब गृह मंत्री ने नागरिकता संशोधन बिल पर बदलाव होने के संकेत दिए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।