प्रधानमंत्री के सुरक्षा को खतरा मात्र ढकोसला, सरकार बर्खास्त करने का षड्यंत्र : चन्नी
प्रधानमंत्री के सुरक्षा को खतरा मात्र ढकोसला, सरकार बर्खास्त करने का षडयंत्र : चन्नीSocial Media

प्रधानमंत्री के सुरक्षा को खतरा मात्र ढकोसला, सरकार बर्खास्त करने का षड्यंत्र : चन्नी

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'जान को खतरे' के ढकोसले का एकमात्र उद्देश्य राज्य में लोकतांत्रिक ढंग से चुनी हुई सरकार को बर्खास्त करना है।

टांडा, पंजाब। श्री चन्नी ने आज यहाँ नई दाना मंडी में 18 करोड़ रुपए की लागत से विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास करने के बाद एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए स्पष्ट तौर पर कहा कि प्रधानमंत्री की जान को किसी तरह का कोई खतरा नहीं था। उन्होंने बुधवार को अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया था क्योंकि भाजपा की रैली में लोगों की संख्या बहुत कम थी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के पंजाब दौरे के दौरान खाली कुर्सियां मुँह चिढ़ा रही थीं जिसके कारण सुरक्षा के खतरे का ओछा कारण देकर वह वापिस दिल्ली चले गए। उन्होंने कहा कि झूठे बहाने बनाकर प्रधानमंत्री का दौरा रद्द करना एक गहरी साजिश का हिस्सा है जिससे जम्मू-कश्मीर की तरह पंजाब को बदनाम करने के साथ राज्य में लोकतंत्र की हत्या की जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री से किलोमीटर की दूरी पर थे तो उस समय पर उनकी जिंदगी को खतरा कैसे पैदा हो सकता है। उन्होंने कहा कि जहाँ प्रधानमंत्री का काफि़ला खड़ा था, वहां तो एक भी नारा नहीं लगा, तो फिर उनकी जिंदगी खतरे में कैसे पड़ गई। उन्होंने प्रधानमंत्री को याद कराते हुए कहा कि पंजाबियों ने देश की एकता, अखंडता और प्रभुसत्ता के लिए जानें कुर्बान की हैं। उन्होंने कहा कि पंजाबी कभी भी प्रधानमंत्री की जिंदगी और सुरक्षा के लिए खतरा नहीं बन सकते। श्री चन्नी ने कहा कि प्रधानमंत्री देश के एक सम्मानित नेता हैं लेकिन ऐसी कथित घटिया चालों में शामिल होना उन्हें शोभा नहीं देता। उन्होंने कहा कि रैली में लोगों की कम संख्या ने राज्य में भाजपा की बुरी स्थिति का पर्दाफाश कर दिया है जो इसके समूचे नेतृत्व को हजम नहीं हो रहा। उन्होंने कहा कि मौसम कल भी खऱाब था और आज भी खऱाब है लेकिन बुधवार को भाजपा की रैली के लिए बहुत कम लोग आए थे, जबकि कांग्रेस की आज की रैली में लोग उमड़े हुये थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री और उनके नेताओं का कल की ड्रामेबाजी का उद्देश्य राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करना है। हालाँकि, उन्होंने प्रधानमंत्री को याद दिलाया कि पंजाब को प्यार से जीता जा सकता है दबाव से नहीं। उन्होंने कहा कि राज्य में लोकतंत्र को चोट पहुँचाने वाली ऐसी किसी भी हरकत का पंजाब निवासी डटकर विरोध करेंगे। उन्होंने प्रधानमंत्री से निजी हितों के लिए राज्य और इसके लोगों को बदनाम न करने की अपील की। उन्होंने प्रधानमंत्री को याद दिलाया कि पंजाबियों ने देश की सरहदों की रक्षा करने के अलावा देश के सामाजिक-आर्थिक विकास में अहम भूमिका निभाई है।

श्री चन्नी ने कहा कि भाजपा द्वारा चलाई जा रही निंदनीय मुहिम समूह पंजाबियों का अपमान है, जोकि अनुचित और अवांछनीय है। पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह पर तंज कसते हुए श्री चन्नी ने कहा कि वह राजनीतिक तौर पर नाकाम हो चुके हैं जो पटियाला के शाही वंशज द्वारा बुधवार को हुई भाजपा की रैली में खाली कुर्सियों को सम्बोधन करने से स्पष्ट होता है। उन्होंने कहा कि सभी जानते हैं कि कैप्टन ने पंजाब की पीठ में छुरा घोंपा है जिस कारण कोई भी उनकी बात नहीं सुनना चाहता। उन्होंने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब महाराजा के सभी उम्मीदवार चुनाव में अपना जनाधार गंवा देंगे।

अकालियों पर निशाना साधते हुए श्री चन्नी ने कहा कि बादलों ने अपने दशक के लम्बे कार्यकाल के दौरान राज्य को खूब लूटा है। उन्होंने कहा कि लोग अकालियों को पंजाब से हराकर सबक सिखाएँगे। मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि पंजाब के लोग अकालियों को उनके द्वारा राज्य के विरुद्ध किए गए गुनाहों के लिए कभी माफ नहीं करेंगे।

'आप' सुप्रीमो अरविन्द केजरीवाल पर बरसते हुए मुख्यमंत्री ने उनको 'आदतन झूठा' व्यक्ति बताया। उन्होंने कहा कि केजरीवाल अपने झूठे वादों से राज्य के लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है। मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि पंजाब निवासी 'आप' के गुमराह करने वाले प्रचार का शिकार नहीं होंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co