तृणमूल ने तेज किये त्रिपुरा में पैर जमाने के प्रयास
तृणमूल ने तेज किये त्रिपुरा में पैर जमाने के प्रयासSocial Media

तृणमूल ने तेज किये त्रिपुरा में पैर जमाने के प्रयास

तृणमूल कांग्रेस की नेता सुष्मिता देव ने कहा कि पार्टी ने त्रिपुरा में अपना जनाधार मजबूत करने के लिए कांग्रेस और भाजपा के कार्यकताओं और नेताओं को पार्टी में शामिल करने के प्रयास तेज कर दिये हैं।

अगरतला। तृणमूल कांग्रेस की नवनियुक्त नेता सुष्मिता देव ने शुक्रवार को कहा कि पार्टी ने त्रिपुरा में अपना जनाधार मजबूत करने के लिए कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकताओं और नेताओं को पार्टी में शामिल करने के प्रयास तेज कर दिये हैं।

सुश्री देव राज्य में संगठन को आकार देने और तृणमूल कांग्रेस की त्रिपुरा राज्य समिति का गठन करने के लिए एक पखवाड़े के दौरे पर यहां पहुंचीं हैं। आगमन के बाद, उन्होंने कई भाजपा विधायकों, सत्तारूढ़ दल के असंतुष्ट नेताओं और कांग्रेस नेताओं से व्यक्तिगत रूप से बात की।

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करने के बाद सभी भाजपा, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) और कांग्रेस कार्यकर्ताओं और समर्थकों से तृणमूल में शामिल होने का आह्वान किया ताकि 2023 के विधानसभा चुनाव से पहले 'भाजपा सरकार की जनविरोधी गतिविधियों' के खिलाफ लड़ाई तेज की जा सके। उन्होंने भाजपा विधायक सुदीप रॉयबर्मन के साथ बैठक की और राज्य की वर्तमान राजनीतिक स्थिति पर चर्चा की।

सुश्री देव ने आरोप लगाया कि कांग्रेस आलाकमान ने हमेशा त्रिपुरा की उपेक्षा की है, इसे राष्ट्रीय स्तर पर माकपा से दोस्ती करने के लिए सौदेबाजी के काउंटर के रूप में इस्तेमाल किया है, जिसके कारण 2018 में भाजपा को फायदा मिला और वह चुनाव जीत गयी। उन्होंने कहा, ''विप्लव कुमार देव को यह समझना चाहिए कि लोगों ने पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा को नहीं, माकपा के खिलाफ वोट दिया था और अब त्रिपुरा के लोगों ने इस सरकार को हटाने का फैसला किया है, क्योंकि इसने लोगों को धोखा दिया है।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co