Raj Express
www.rajexpress.co
Uddhav Thackeray Statement
Uddhav Thackeray Statement |Priyanka Sahu -RE
पॉलिटिक्स

क्‍या सचमुच BJP, शिवसेना को दे रही अनाधिकारिक माध्यम से प्रस्‍ताव?

महाराष्‍ट्र में भाजपा-शिवसेना की बयानबाजी अभी भी जारी है, ठाकरे ने कहा-BJP अभी भी सरकार बनाने के लिए संपर्क कर रही है, भाजपा ने की पुष्टि। क्‍या अब इन बयानों के बाद बदलेगी राजनीति?

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। महाराष्‍ट्र में राजनीति सियासत को लेकर मचे महाड्रामे के बीच अब एक बार फिर नए एक्‍शन मोड़ में आ सकती हैै, भले ही भाजपा और शिवसेना अपनी दोस्‍ती खत्‍म कर चुके हैं, लेकिन बयानबाजी अभी भी जारी है। इसके साथ ही शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान (Uddhav Thackeray Statement) सामने आया एवं उनके तुरंंत बाद भाजपा के नेता ने भी यह प्रतिक्रिया दी, जाने क्‍या बोले दोनों पार्टियों के नेता?

क्‍या है ठाकरे का बयान :

दरअसल, उद्धव ठाकरे का यह कहना है कि, ''भारतीय जनता पार्टी (BJP) महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए अनाधिकारिक माध्यमों से अभी भी संपर्क कर रही है, वे हर बार अस्पष्ट और अलग-अलग प्रस्ताव दे रहे हैं, लेकिन हमने कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ जाने का निर्णय लिया है।"

भाजपा नेता ने की शिवसेना के बयान की पुष्टि :

शिवसेना नेता की और से दिए गए इस बयान केे थोड़ी देर बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे (Narayan Rane Statement) ने ठाकरे के बयान की एक तरह से पुष्टि करते हुए कहा कि, ''पार्टी ने उन्हें सरकार गठन के लिए भाजपा संग गठबंधन को फिर से जिंदा करने पर शिवसेना को समझाने के लिए आवश्यक कदम उठाने के लिए लगा रखा है।''

हम 145 सदस्यों के एक सामान्य बहुमत की कोशिश में लगे हुए हैं, हमारा यही लक्ष्य है और हम राज्यपाल को उसे सौंपेंगे। मुझे नहीं लगता कि शिवसेना एसीपी-कांग्रेस के साथ जाएगी, वे शिवसेना को मोहरा बना रहे हैं।
नारायण राणे

शरद पवार के बयान का जिक्र कर बीजेपी पर तंज :

हलांकि इस दौरान शिवसेना की और से उद्धव ठाकरे ने एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के उस बयान का जिक्र करते हुए भाजपा पर निशाना साधते हुुुए कहा कि, ''शिवसेना ने औपचारिक रूप से पहली बार सोमवार को उनसे (कांग्रेस-राकांपा) संपर्क किया। वे हमारे ऊपर भाजपा को छोड़कर हर किसी से पहले से ही बात करने आरोप लगा रहे हैं, लेकिन अब सच्चाई सामने आ गई है। हमारे पास बातचीत का समय था, लेकिन मैं इस दिशा में नहीं जाना चाहता था, जिस दिशा में चर्चा हो रही है।"

वे सिर्फ ये कहने के बाद रूके नहीं बल्कि आगे और भी चुटकी पर चुटकी लेते हुए यह कहा कि, ''राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी ने किस तरह उन्हें दो दिन का समय नहीं दिया, लेकिन अब उन्होंने दूसरे दलों को समर्थन पत्र के लिए छह महीने (राष्ट्रपति शासन) का समय दे दिया।''

जब से भाजपा ने हमें शुभकामनाएं दी हैं, लगता है यह हमें दिशा दिखा रहा है, हम उन्हें निराश नहीं करेंगे, कांग्रेस-राकांपा के साथ वैचारिक मतभेदों के सवाल पर ठाकरे ने भाजपा द्वारा विपरीत विचारधारा की पार्टियों से किए गए गठबंधन पर सवाल उठा दिया, जिसमें नीतीश कुमार, रामविलास पासवान, चंद्रबाबू नायडू और अन्य शामिल हैं।
शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।